कैंसर क्या है और कैसे होता है What is Cancer in Hindi

जानें कैंसर क्या है Cancer Disease in Hindi

What Is Cancer In Hindi – आज हम आपको कैंसर क्या है ? और कैंसर कैसे होता है ? इस बारे में विस्तार से बताने वाले हैं| कैंसर एक खतरनाक बीमारी हैं, इस बीमारी का नाम सुनते ही लोगो को पसीने आने शुरू हो जाते हैं| इस बीमारी को जानलेवा बीमारियों की श्रेणी में रखा गया हैं| इस बीमारी से ग्रसित व्यक्ति की मौत खौफनाक तो होती ही हैं, साथ ही इस बीमारी के कारण व्यक्ति की लाइफ मौत से भी बत्तर हो जाती हैं| (जाने – कैंसर के लक्षण)

What Is Cancer In Hindi

कैंसर की जानकारी (Cancer Information in Hindi)

कैंसर की बीमारी (Cancer Disease) आज केवल भारत में ही नहीं, पुरे विश्व में तेजी से फ़ैल रही हैं| कैंसर की बीमारी सबसे अधिक ब्रिटेन में फ़ैल रही हैं| कैंसर रोग (Cencer) पर किए गए एक शोध के अनुसार ब्रिटेन में 48 % औरते और 54 % आदमी कैंसर के शिकार हो चुके हैं, वही दूसरी ओर अमेरिका में 38 % औरते और 42 $ मर्द कैंसर की चपेट में आ चुके हैं| इन आकड़ो के अनुसार आप खुद अंदाजा सकते हैं, कि ये बीमारी कितनी तेजी से फ़ैल रही हैं| जानलेवा समझी जाने वाली ये बीमारी, आजकल फीवर की तरफ आम हो गयी हैं|

कैंसर रोग इतनी तेजी से क्यों फ़ैल रहा हैं, ये जानने से पहले हमारे लिए ये जानना बहुत जरुरी हैं, कि कैंसर क्या है (What Is Cancer In Hindi). आपको ये बात थोड़ी हैरान करनी वाली लगेगी, लेकिन ये सच हैं| वास्तव में मानव विकास की कुदरती प्रकिर्या द्वारा ही कैंसर रोग का जन्म होता हैं| अर्थात जैसे जैसे मानव का विकास हो रहा हैं, वैसे वैसे ये बीमारी बढ़ रही हैं, और मानव विकास के कारण पैदा हुयी मानव की नयी सोच के कारण इस बीमारी का इलाज करने की नयी नयी तरकीब निकाली जा रही हैं|

कैंसर कैसे होता है (Cancer Kaise Hota Hai)

कैंसर कैसे होता है, इस बात को हम आपको बहुत बारीकी से समझाने वाले हैं| कैंसर रोग होने का कारण जानने से पहले हमे हमारे शरीर का विकास होने की प्रकिया को जानना होगा| जब मादा का अंडाणु नर के शुक्राणु के साथ मिलता हैं, तो इससे एक कोशिका का निर्माण होता हैं| ये कोशिका गेंदनुमा होती हैं, और इस गेंदनुमा कोशिका पर ही हमारा व्यक्ति का विकास निर्भर होता हैं| जब इस कोशिका का बटबारा होता हैं, तभी व्यक्ति के शरीर का विकास होता हैं|

जाने – जीभ के कैंसर के लक्षण
जाने – गर्भाशय कैंसर के लक्षण

20 साल की उम्र तक व्यक्ति के विकास के साथ साथ ये कोशिकाएं सेकड़ो बार बट चुकी होती हैं| याद रहे जब व्यक्ति का विकास होता हैं, तब बहुत ही नियंत्रित माहौल में इन कोशिकाओं का बटबारा होता हैं| अर्थात जब कोशिकाओं का बटबारा सामान्य रूप से होता हैं, तब व्यक्ति के शरीर के अंगो का विकास होता हैं| टिमोथी बिल के अनुसार जब कोशिकाओं के बटबारे की ये प्रकिया अनियंत्रित या बेकाबू हो जाती हैं, तब कैंसर नामक इस खतरनाक रोग का जन्म होता हैं|

हमारे शरीर में कोशिकाओं के बटबारे की किर्या जीन की निगरानी में होती हैं, अर्थात जीन का हमारी कोशिकाओं के बटबारे पर पूरा कंट्रोल होता हैं| लेकिन कभी कभी ये जीन किसी कारण से कमजोर पड़ जाते हैं, जिसके कारण कोशिकाओं के बटबारे की प्रकिया को ये कण्ट्रोल नहीं कर पाते| जिससे कोशिकाओं का बटबारा अनियंत्रित होना शुरू हो जाता हैं|

जीन हमारी कोशिकाओं के बटबारे पर अपनी पूरी नजर रकते हैं| जैसे ही कोई कोशिका बेकाबू होती हैं, जीन उसे तुरंत काबू में कर लेते हैं| जिससे कोशिकाओं का बटबारा नियंत्रित रहे| लेकिन जीन कभी कभी इस प्रकिया को कण्ट्रोल नहीं कर पाता, और इसी से कैंसर का जन्म होता हैं| शरीर में अनेक कोशिकाएं होती हैं, लेकिन ये बीमारी केवल कुछ कोशिकाओं के कारण ही होती हैं| लेकिन ये कोशिकाएं इतनी तेजी से अनियंत्रित होकर फैलने लगती हैं, कि इससे रोक पाना मुश्किल हो जाता हैं| इसीलिए कैंसर रोग इंसान के शरीर में तेजी से फैलता हैं|

कैंसर क्या हैं (Cancer Disease in Hindi)

इंसान के शरीर में रोजाना कुछ न कुछ बदलाब होते रहते हैं, और इन बदलाब का असर हमारी कोशिकाओं पर पड़ता हैं| शरीर में रसौली और किसी भी प्रकार का ट्यूमर होने पर कोशिकाओं में अंदरूनी बदलाव होता है| इस अंदरूनी बदलाव के कारण ही कोशिकाएं ज़िन के नियंत्रण क्षेत्र से बाहर चली जाती हैं, और बेकाबू होकर अपने हिसाब से शरीर में फैलने लगती हैं|

कोशिकाओं के बटबारे की ये किर्या रूकती नहीं, और इस प्रकार कैंसर रोग हमारे शरीर में बढ़ता जाता हैं| कुछ वैज्ञानिको के अनुसार अगर कोशिकाओं में आये इस बदलाब को काबू किया जा सके, तो कैंसर के इलाज में काफी मदद मिलेगी| उम्र बढ़ने के साथ साथ कैंसर की बीमारी का खतरा इंसान में बढ़ता जाता हैं| अमेरिका में जो लोग कैंसर से पीड़ित हैं, उनमे 75 % लोगो को सिगरेट पीने के कारण ये रोग लगा हैं| इसीलिए अगर देखा जाये तो सिगरेट और तम्बाकू जैसी चीजों पर लगाम लगाकर भी हम काफी हद तक कैंसर नामक इस जानलेवा रोग पर काबू पा सकते हैं|

अधिकतर लोग कैंसर रोग होने का मतलब, ज़िन्दगी के आखरी दिनों को गिनना मानते हैं, लेकिन वास्तव में पूरी तरह ये बात सच नहीं हैं| मैडिकल साइंस ने आज इतनी तरक्की कर ली हैं, कि कैंसर नामक लाइलाज बीमारी का इलाज भी संभव हो गया, लेकिन इस बीमारी का इलाज कराने के लिए इस बीमारी के शुरूआती लक्षणों को पहचान कर इसका इलाज तुरंत करना जरुरी हैं| इसीलिए इस बीमारी से डरे बिना समय पर इसका इलाज शुरू कर देना चाहिए|

आज हमने आपको कैंसर रोग (Cencer in Hindi) पर जानकारी दी| ये रोग खतरनाक जरूर हैं, लेकिन अगर आपको इस रोग के बारे में पूरी जानकारी हैं, तो आप समय रखते इसका इलाज करके, इससे बच सकते हैं| हमें उम्मीद हैं, कि हमारी इस पोस्ट को पढ़कर आपको कैंसर के बारे में काफी जानकारी प्राप्त हो गयी होगी| हम आपके भी कैंसर रोग पर अनेक पोस्ट लेकर आएंगे| पोस्ट के बारे में अधिक जानकारी के लिए पोस्ट क निचे बने कमेंट बॉक्स में कमेंट करना ना भूले|

जाने – मुंह के कैंसर के लक्षण
जाने – जीभ के कैंसर के लक्षण

Disclaimer:- All content is good for health but you should take advice from Doctor before using them. We are not responsible for any harm.

You may also like...

2 Responses

  1. sehatsundar.com says:

    Very very thankful to you for sharing this knowledge.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen − two =