ब्रेन हेमरेज के लक्षण, कारण, इलाज और बचाव : Brain Hemorrhage in Hindi

ब्रेन हैमरेज का इलाज और लक्षण  Brain Hemorrhage Symptoms in Hindi

ब्रेन हेमरेज की समस्या दिमाग के अंदर या दिमाग के आस पास रक्तस्त्राव होने के कारण होती है| ब्रेन हेमरेज को दिमागी नकसीर भी कहते है| ब्रेन हेमरेज के कई प्रकार होते है, जैसे मस्तिष्क के आस पास या अंदर रक्तस्त्राव को सेरिब्रल कहते है, खोपड़ी के अंदर होने वाले रक्तस्त्राव को इंट्राक्रेनियल कहते है|

What is Brain Hemorrhage in Hindi

ब्रेन हेमरेज एक खतरनाक बीमारी है, अधिकतर मामलो में यह बीमारी जलनेवा हो सकती है| कई बार ब्रेन हेमरेज से लोग मरते नहीं, लेकिन वो अपने सारे जीवन में बेबस और खुद को अपाहिज महसूस करते है| ब्रेन हेमरेज के परिणाम इस बीमारी की गंभीरता पर निर्भर करते है| अधिकतर लोग इस बीमारी के बारे में आज भी नहीं जानते| जिसके कारण ये बीमारी तेजी से लोगो को अपना शिकार बना रही है| आइये जाने ब्रेन हेमरेज के लक्षण, कारण, बचाव और उपचार के बारे में|

ब्रेन हेमरेज के कारण (Brain Hemorrhage Causes in Hindi)

ड्रग लेना। अधिक मात्रा में दवा का सेवन करना, सिर पर चोट लगना, खून का पतला होना, रक्तस्त्राव, रक्तनलियों का उलझना और शराब सिगरेट जैसी नशीली चीजों का सेवन ब्रेन हेमरेज का बड़ा कारण है| सिर के उभार के फटने के कारण भी ब्रेन हेमरेज की समस्या हो सकती है| ब्रेन हेमरेज में रक्तस्त्राव होने से दिमाग के सामान्य रक्तप्रवाह में परिवर्तन आता है| जिसके कारण हार्ट अटैक और पैरालिसिस जैसे कई खतरनाक और गंभीर रोग हो जाते है|

ब्रेन हेमरेज कितना खतरनाक हो सकता है, यह बात खोपड़ी की सूजन और उपचार में की गयी देरी पर निर्भर करती है| ब्रेन हेमरेज के खतरे से कुछ लोग उभर आते है, लेकिन कुछ लोगो का मस्तिष्क ब्रेन हेमरेज के कारण लम्बे समय या हमेशा के लिए क्षतिग्रस्त हो जाता है| ब्रेन हेमरेज से बचाव के लिए इसे पैदा करने वाले कारणों से बचाव जरुरी है|

ब्रेन हेमरेज के लक्षण (Symptoms of Brain Hemorrhage in Hindi)

एक न्यूरोलॉजिस्ट के अनुसार अगर ब्रेन हेमरेज का कोई व्यक्ति उनके पास अगर तीन घंटे के अंदर आ जाये, तो वे ब्रेन हेमरेज के असर को पूरी तरह खत्म कर सकते है| इसका मतलब ये है, कि ब्रेन हेमरेज का पता तुरंत लगने पर अगर मरीज का इलाज तीन घंटे के अंदर करा दिया जाये, तो मरीज को ब्रेन हेमरेज के खतरे और इससे होने वाले नुकसान से पूरी तरह बचाया जा सकता है| समय से इलाज के लिए आपको ब्रेन हेमरेज के लक्षणों को जानना बहुत जरुरी है| इसके लक्षणों को पहचान कर आप इसका इलाज समय पर करा सकेंगे|

  • अचानक तेज सिर दर्द होना
  • पानी पीने में तकलीफ
  • अचानक बेहोशी आना
  • अचानक लकवा मारना
  • पैरो और चेहरे का अचानक सुन्न पड़ना
  • बोलने, पढ़ने और हसने में प्रॉब्लम होना
  • जुबान सीधी मुँह से बाहर ना निकलना
  • हाथ ऊपर उठाने में तकलीफ होना

ब्रेन हेमरेज से बचाव (Brain Hemorrhage Prevention in Hindi)

ब्रेन हेमरेज से बचाव के लिए हमे अपने सिर को चोट लगने या किसी भी प्रकार की हानि होने से बचाना चाहिए, क्योंकि ब्रेन हेमरेज सबसे अधिक सिर पर चोट लगने के कारण होता है| इसके अलावा ऊपर दिए गए ब्रेन हेमरेज के लक्षण में से कोई भी लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे| डॉक्टर आपको देखकर आपका MRI या CITI Scan कराने के सलाह देंगे| जिससे आपको ब्रेन हेमरेज है या नहीं इसका पूरा पता चल जायेगा| ब्रेन हेमरेज पैदा करने वाला कोई भी काम ना करे|

1. शराब, सिगरेट और तम्बाकू जैसी नशीली चीजों का सेवन बंद करे|

2. ब्रेन हेमरेज और अन्य सभी रोगो से बचने के लिए रोजाना योग, व्यायाम और प्राणायाम करे|

3. बार बार सिर दर्द होने पर पैन किलर ना ले और तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे|

4. अगर आपको हृदय रोग, शुगर और उच्च रक्तचाप जैसी स्वास्थय सम्बन्धी समस्या है, तो नियमित रूप से डॉक्टर से अपना चेकअप कराते रहे|

5. समतोल आहार अर्थात फलो और सब्जियों का सेवन करे|

6. तनाव से हमेशा दूर रहे और खुद को खुश रखे|

7. अपना वजन कण्ट्रोल में रखे|

8. 30 साल के बाद कोई बीमारी ना होने पर भी डॉक्टर से चेकअप कराये|

9. कार चलाते समय सीटबेल्ट जरूर पहने|

10. बाइक चलाते समय हैलमेट लगाए|

11. 12 फीट के नीचे पानी में गोते ना लगाए|

ब्रेन हेमरेज का इलाज (Brain Hemorrhage Treatment in Hindi)

ब्रेन हेमरेज का इलाज का सबसे अच्छा उपाय है, कि आप ऊपर दिए गए कोई भी लक्षण को देखकर तुरंत डॉक्टर के पास जाये| आपको ब्रेन हेमरेज है, या नहीं इसका पता लगाने के लिए डॉक्टर आपकी खोपड़ी के कुछ टैस्ट करायेगे, इनके आधार पर यह पता लग जायेगा कि आप इस बीमारी से ग्रस्त है या नहीं| ब्रेन हेमरेज की आशंका होने पर डॉक्टर आपको दवा और जरुरी सलाह देंगे| इन दवा को रेगुलर खाये और सभी बातो पर ध्यान दे|

इस पोस्ट में हमने आपको ब्रेन हेमरेज होने, लक्षण ( Brain Hemorrhage in Hindi) और इससे कैसे बचाव किया जाये, इसके बारे में बताया| आपको हमारी Brain Hemorrhage से जुडी पोस्ट कैसी लगी, कमेंट के माध्यम से बताना ना भूले| अगर आपको इस बीमारी से बचने या इसकी पहचान का कोई अन्य लक्षण पता है, तो कमेंट के माध्यम से उसे हमारे साथ शेयर करे|

ये भी पढ़े –

माइग्रेन के लक्षण, कारण, परीक्षण, परहेज
माइग्रेन के लिए बाबा रामदेव के योग
दौड़ने के फायदे
तेज दौड़ने के टिप्स
पेट कम करने की कसरत
मोटापा कम करने के उपाय
कमर और पेट कम करने के घरेलू उपाय
मोटा होने की दवा
वजन बढ़ाने के लिए डाइट चार्ट

Disclaimer:- All content is good for health but you should take advice from Doctor before using them. We are not responsible for any harm.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 4 =