15 Tips for Stress Management in Hindi | तनाव को कंट्रोल करना सीखें

How to Control Stress in Hindi

Techniques of Stress Management in Hindi : किसी बात से दुखी या परेशान होकर व्यक्ति के मन का उदास होना तनाव या स्ट्रेस कहलाता है| तनाव मन से संबंधित विकार है| तनाव द्वंद की तरह होता है, जो मन में किसी बात को लेकर सामंजस्य और संतुलन ना बनाने के कारण होता है| तनाव ग्रस्त व्यक्ति की भावनाएं स्थिर नहीं रहती और उनका मन भी हमेशा अशांत और विचलित रहता है|

Stress Management in Hindi

 

तनाव ग्रस्त व्यक्ति सही और गलत में फर्क नहीं कर पाता, इसीलिए ऐसे व्यक्तियों को निर्णय लेने में परेशानी होती है| तनाव के कारण व्यक्ति शारीरिक और मानसिक रूप से कमजोर होता जाता है| मानसिक तनाव आजकल एक ऐसी समस्या बन गयी है, जिसके बिना आजकल किसी भी व्यक्ति की कल्पना करना बहुत मुश्किल है|

हर आर्थिक, व्यक्तिगत और सामाजिक कारणों की वजह से कभी ना कभी मानसिक तनाव की चपेट में आता है| जो व्यक्ति बहुत ज्यादा सोचते है और छोटी छोटी बातो को अपने दिल पर ले जाते है, ऐसे व्यक्ति लम्बे समय तक मानसिक तनाव से गुजरते है| तनाव के कारण हमारे शरीर और मन दोनों पर बुरा असर पड़ता है, जिसके कारण अनेक प्रकार की बीमारियां शरीर को लग जाती है|

तनाव के कारण होने वाली परेशानी (Issue from Stress in Hindi)

तनाव के कारण कई बार व्यक्ति को किसी काम को अच्छा करने की लगन पैदा हो जाती है, लेकिन इसके विपरीत जब यह तनाव हम पर हावी होने लगता है, तब स्थिति बिगड़ जाती है और हम किसी भी कार्य को करने में समर्थ नहीं रह पाते| तनाव जब हावी हो जाता है, तब व्यक्ति को निम्नलिखत परेशानियों का सामना करना पड़ता है|

  • रक्तचाप बढ़ना
  • मांसपेशियां भी तनाव
  • पाचन शक्ति कमजोर होना
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता पर असर पड़ना
  • सांस लेने की गति सामान्य से अधिक होना
  • गुस्सा अधिक आना
  • सही गलत समझने की सामर्थ्य खोना

तनाव के लक्षण (Stress Symptoms in Hindi)

  • दिमाग में हमेशा नकारात्मक विचारो का चलना
  • सिर दर्द और पीठ दर्द रहना
  • नाख़ून काटते रहना
  • सर्दी अधिक लगना
  • बहुत कम सोना या बहुत अधिक सोना
  • नींद बहुत कम आना
  • हमेशा दुखी रहना
  • एक ही चीज को लगातार देखना
  • ध्यान केंद्रित करने में परेशानी होना
  • निराश रहना और गुस्सा अधिक आना
  • पेट अक्सर खराब रहना
  • भूख कम लगना या बहुत अधिक लगना

तनाव के कारण (Stress Causes in Hindi)

जब हम खुद पर दबाव दबाव महसूस करते है, तब हमारे शरीर से कुछ केमिकल निकलते है| इन केमिकल से शरीर को ज्यादा ताकत और ऊर्जा मिलती है, जो हमारे लिए उपयोगी होती है| इसके विपरीत जब हम तनाव में रहते है, तब यह केमिकल हमारे शरीर पर उल्टा असर दिखाने लगते है| परिस्थिति कैसी है, तनाव पूरी तरह इस बात पर निर्भर करता है|

कई व्यक्ति ऐसे होते है, जो बड़ी से बड़ी प्रॉब्लम आने पर भी तनाव नहीं लेते, लेकिन कुछ व्यक्ति छोटी छोटी बातो के कारण भी तनाव लेने लगते है| कुछ व्यक्ति बड़ी बड़ी बातो को भी नजरअंदाज कर देते है, वही दूसरी ओर कुछ व्यक्ति छोटी छोटी बातो पर भी सोच विचार करने लगते है| तनाव के कुछ अन्य मुख्य कारण निम्न है –

तनाव के सामान्य बाहरी कारण

  • स्कूल या कॉलेज में किसी तरह का दबाव
  • काम का बहुत अधिक बोझ
  • घर में पैसो की परेशानी
  • रिश्तों में दरार पड़ना
  • परिवार में किसी को बड़ी बीमारी होना
  • लाइफ में कुछ नकारात्मक होना
  • नौकरी से निकाल देना या सैलरी ना बढ़ना

तनाव के सामान्य कारण

  • बहुत अधिक और दूर का सोचना
  • अपने अंदर कमियों को देखना
  • अपने आप से नकारात्मक बाते करना
  • आत्मविश्वास की कमी होना
  • अपने बारे में नकारात्मक सोचना
  • किसी से बहुत ज्यादा उम्मीद रखना

तनाव मुक्त रहने के टिप्स (Stress Free Life Tips in Hindi)

1. अपने अतीत के बारे में सोचकर ज्यादा परेशान ना हो और भविष्य के बारे में बहुत अधिक ना सोचे| तनावमुक्त रहने के लिए वर्त्तमान में रहने की आदत डाले| अपना पूरा ध्यान उस काम पर लगाए, जो काम आप कर रहे है| इससे आपका काम अच्छा होगा और आप तनाव से भी बच जायेगे|

2. नियमित दिनचर्या का ना होना भी तनाव का कारण है| अगर आप तनावमुक्त रहना चाहती है, तो अपनी एक नियमित दिनचर्या बनाये और उसका पालन करे| नियमित दिनचर्या के अंतर्गत रात को जल्दी सोने और सुबह जल्दी उठने की आदत डाले| खाना खाने का टाइम फिक्स कर ले| सुबह का नाश्ता करना ना भूले और हमेशा कुछ ना कुछ खाते ना रहे|

3. अगर आप तनाव से दूर रहना चाहते है, तो अपने लिए कुछ समय जरूर निकाले| ऐसे काम करे, जिन्हे करने में आपका मन लगता है, जिन्हे करने से आपको ख़ुशी मिलती है| समय निकालकर अपने दोस्तों या परिवार वालो से मिलने जाये| अच्छी किताबे और अच्छा संगीत सुने| अपने दुखी होने का कारण ढूंढे और उसे दूर करने का प्रयास करे|

4. एंडोर्फिन एक हार्मोन है, जो हमें अच्छा फील कराता है| व्यायाम करने से यह हार्मोन हमारे शरीर से निकलता है| अगर आप तनाव को खुद से दूर रखना चाहते है, तो रोजाना व्यायाम करे| व्यायाम एक ऐसा माध्यम है, जिसके करने से आपको तनाव के कारण से भी छुटकारा मिलेगा| व्यायाम करने से मन में नकारात्मक विचार नहीं आते, जिसके कारण हम तनाव मुक्त रहते है|

5. आपको जानकर थोड़ी हैरानी होगी, लेकिन यह सच है| शरीर की मालिश करके भी आप तनाव से दूर रह सकते है| मालिश करने से मन और शरीर शांत रहता है, जिसके कारण आपको तनाव से मुक्ति मिलती है|

6. तनाव से दुरी बनाये रखने के लिए अपने चेहरे पर हमेशा मुस्कान रखे| हंसने और मुस्कुराने से चेहरे की खूबसूरती बढ़ जाती है और स्ट्रेस भी कम होता है| आपको जब भी हंसने और मुस्कुराने का मौका मिले, तब उस मौके को गवाएं बिना खूब हसो और मुस्कुराओ|

7. तनाव से बचने के लिए स्वस्थ आहार ले| स्वस्थ आहार हमारे शरीर और मन दोनों के लिए उपयोगी है| हरी पत्तेदार सब्जियां आपको तनाव से दूर रखने में उपयोगी है| इसके साथ ही रात को सोने से पहले एक गिलास गर्म दूध का सेवन करे| तनाव से दूर रहने के लिए डार्क चॉकलेट का सेवन भी कर सकते है|

8. तनाव मुक्त रहने के लिए खुद से सकारात्मक बाते करे| अपने बारे में सकारत्मक विचार रखने से आपको तनाव दूर रहने में मदद मिलेगी| सकारात्मक बाते करने के लिए सुबह के समय का चुनाव करे| सुबह के समय चारो तरह शांति रहती है और आप ध्यान केंद्रित करके खुद से बाते कर पाते है|

9. नींद की कमी भी तनाव का कारण है| कुछ लोग काम में दिन रात लगे रहते है, जिसके कारण उनकी नींद पूरी नहीं होती और जिसके कारण अनेक प्रकार की शारीरिक और मानसिक परेशानियां होने लगती है| नींद पूरी ना होने के कारण किसी काम को करने में मन नहीं लगता, और बहुत अधिक गुस्सा आता है| एक दिन में कम से कम 8 से 10 घंटे सोने की आदत डाले|

तनाव का घरेलू इलाज (Stress Home Remedies in Hindi)

डार्क चॉकलेट – एक शोध के अनुसार डार्क चॉकलेट के सेवन से आप तनाव से बच सकते है| डार्क चॉकलेट के सेवन से शरीर में फील गुड नामक हार्मोन का स्त्राव होता है, जिसके कारण व्यक्ति हमेशा खुश और तनावमुक्त रहता है| डार्क चॉकलेट मार्किट में आसानी से मिल जाती है और यह खाने में भी स्वादिष्ट लगती है|

अस्वगंधा – भारत में 2012 में हुयी एक रिसर्च के अनुसार अस्वगंधा की जड़ में कोर्टिसोल तनाव हार्मोन को कम करने के गुण पाए जाते है| अस्वगंधा के सेवन से शरीर की तनाव से लड़ने की क्षमता भी बढ़ती है| अस्वगंधा के सेवन से नींद अच्छी आती है, शारीरिक थकान दूर होती है और शारीरिक ऊर्जा बढ़ती है| इसके सेवन से तंत्रिका तंत्र भी मजबूत होता है| अस्वगंधा की तासीर बहुत गर्म होती है, इसीलिए छोटे बच्चे और माँ बनने वाली महिलाएं इसका सेवन ना करे|

दूध – दूध हमारे शरीर के लिए बहुत जरुरी होता है| दूध में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है, जिससे हड्डियां और दांत मजबूत होते है| रोजाना एक गिलास दूध पीने से शरीर को जरुरी पोषक तत्व और अनेक प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट मिलते है| दूध में मौजूद सभी तत्वों के कारण दूध का सेवन करने से मन शांत रहता है और तनाव से लड़ने की शक्ति मिलती है|

पालक – पालक में मिनरल, आयरन और विटामिन ए, बी, सी भरपूर मात्रा में पाए जाते है, ये सभी खनिज तत्व तनाव से लड़ने में सहायक होते है| पालक की सब्जी बनाकर खाएं या इसका जूस बनाकर पियें| पालक का रोजाना सेवन करने से दिमाग और शरीर को राहत मिलती है, जिससे तनाव दूर होता है|

कैमोमाइल चाय – कैमोमाइल चाय तनाव दूर करने के लिए एक प्रभावी जड़ी बूटी है| इसमें दिमाग को शांति और सुख देने वाले गुण विघवान होते है, इन गुणों का हमारे केंद्रीय स्नायुतंत्र पर अच्छा असर होता है| इसके सेवन से तनाव दूर होता है, नींद अच्छी आती है और मांसपेशियों को आराम मिलता है| तनाव में राहत पाने के लिए रोजाना एक से दो कप कैमोमाइल चाय पियें|

तुलसी – तुलसी एक प्रकार की अनुकूलजनिक जड़ी बूटी है| जो भावनात्मक और भौतिक तनाव को दूर करने में सहायक है| 2006 में आयी एक रिपोर्ट के अनुसार तुलसी के सेवन से स्थाई रूप तनाव में रहने वाले व्यक्ति को भी ठीक किया जा सकता है| तनाव दूर के लिए दिन में 6 से 7 तुलसी की पत्तियों को चबाकर खाएं| इसके अलावा तुलसी की पत्तियों का एक से दो चम्मच रस पियें|

जामुन – एंटीऑक्सीडेंट तनाव को घटाने में मदद करते है और ये एंटीऑक्सीडेंट जामुन में भरपूर मात्रा में पाए जाते है| अगर जामुन का रोजाना सेवन किया जाये, तो इन्सोमनिया और तनाव जैसे मानसिक विकारो को दूर किया जा सकता है| जामुन को ऐसे ही खाये या फिर इसका जूस निकालकर पियें|

बादाम – बादाम में अनेक प्रकार की स्वास्थ्य वर्धक वसा पायी जाती है| जो स्वास्थ्यवर्धक होती है और तनाव को दूर करने में सहायक होती है| रात को बादाम को भिगोकर रख दे और सुबह बादाम को छीलकर खाएं| बादाम को थोड़ा भून ले और इसे चबाकर खाये| बादाम का पेस्ट या पाउडर दूध में मिलाकर भी इसका सेवन किया जा सकता है|

सेंधा नमक – तनाव दूर करने के लिए सेंधा नमक बहुत बढ़िया घरेलू नुस्खा है| इसके इस्तेमाल से तनाव से छुटकारा मिलता है| मैग्नीशियम की भरपूर मात्रा होने के कारण सेंधा नमक के इस्तेमाल से मनोदशा सेरोटोनिन रसायन दिमाग में बढ़ता है| इससे शरीर को आराम मिलता है और तनाव भी दूर रहता है|

संतरा – संतरे में अनेक प्रकार के मिनरल पाए जाते है, जो तनाव को कम करने में सहायक होते है| विटामिन सी की अधिक मात्रा होने के कारण संतरा इम्यूनिटी बढ़ाने में भी सहायक होता है| अगर आप तनावमुक्त रहना चाहते है, तो रोजाना एक गिलास संतरे के जूस का सेवन करे|

ग्रीन टी – ग्रीन टी में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते है| ये एंटीऑक्सीडेंट शरीर और दिमाग को शांत करने में सहायक होते है और इससे मूड भी अच्छा होता है| तनाव मुक्त रहने के लिए रोजाना एक से दो कप ग्रीन टी पियें|

इस पोस्ट में हमने आपको स्ट्रेस कण्ट्रोल करने के टिप्स और घरेलू उपायों के बारे में बताया| स्ट्रेस दूर करने के ये उपाय आपको कैसे लगे, इसके बारे में हमें कमेंट करके बताएं| कमेंट करने के लिए पोस्ट के निचे बने कमेंट बॉक्स में कमेंट करे| इस पोस्ट को पढ़कर आपको फायदा हुआ, इसके बारे में भी हमें बताना ना भूले|

ये भी पढ़े –

माइग्रेन के लक्षण, कारण, परीक्षण, परहेज
माइग्रेन के लिए बाबा रामदेव के योग
दौड़ने के फायदे
तेज दौड़ने के टिप्स
पेट कम करने की कसरत
मोटापा कम करने के उपाय
कमर और पेट कम करने के घरेलू उपाय
मोटा होने की दवा
वजन बढ़ाने के लिए डाइट चार्ट

Disclaimer:- All content is good for health but you should take advice from Doctor before using them. We are not responsible for any harm.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9 + four =