सिर दर्द की होम्योपैथी दवा, टैबलेट, मेडिसिन : Sar Dard Ki Tablet

तेज भयंकर सिर दर्द की दवा, इलाज, मेडिसिन और उपचार

सिर दर्द एक ऐसी समस्या है, जिससे हर दिन कोई ना कोई परेशान रहता है| यह समस्या बड़ो बूढ़ो समेत बच्चो को भी अपनी चपेट में ले लेती है| अक्सर लोग सिर दर्द होने के कारण जाने बिना ही कोई भी सिर दर्द की दवा खा लेते है, ऐसे में शरीर को इसके सेवन से कई प्रकार की हानि भी हो सकती है| सिर दर्द होने के कारण जानने के बाद ही कोई भी दवा खाये| (ये भी पढ़े – मोटा होने की दवा )

Sar Dard Ki Dawa in Hindi

इस पोस्ट में हम आपको सिर दर्द के कारण और सिर दर्द की दवा और सिर दर्द की टेबलेट के बारे में बताने वाले है| आजकल मार्किट में सिर दर्द की होमियोपैथी दवा भी मौजूद है| ऐसे में होमियोपैथी दवा अधिक लाभकारी है, इनसे किसी भी बीमारी का इलाज परमानेंट होता है, और शरीर को कोई हानि भी नहीं होती| चलिए पोस्ट को आगे बढ़ाये और सर दर्द की मेडिसन के बारे में जाने|

सिर दर्द के कारण (Headpain Causes in Hindi)

1. ब्लड क्लोटिंग अर्थात मस्तिष्क की शिराओं में रक्त संचय होना
2. ब्लड प्रेशर का अधिक या कम होना
3. चिंता और क्रोध करना
4. नींद कम आना या ना आना
5. मस्तिष्क में जलवृद्धि या फोड़ा होना
6. आँखों की कमजोरी
7. आंख, कान, नाक, दांत और गले से जुडी बीमारी
8. अमल्पित्त और आँखों के रोग के कारण

सिर दर्द की होम्योपैथी दवा (Sar Dard Ki Homeopathy Tablet)

सिर दर्द की दवा बेलाडोना 30 (Sar Dard Medication Belladonna 30)

बेलाडोना 30 यूरोप में मौजूद पेड़ से बनाई जाती है| सर दर्द में अधिकतर इसी होम्योपैथी दवा का इस्तेमाल किया जाता है| यह दवा इसी असरकारी है, कि शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द होने पर इसका सेवन करने से दर्द एक मिनट में चला जाता है| इसके इस गुण के कारण ही लोग सिर दर्द में इसका सेवन करते है, जिससे सिर दर्द तुरंत गायब हो जाये|

सिर दर्द की दवा नेट्रम म्यूर 30, 6x (Sar Dard Medication Natrum mur 30, 6x)

सोडियम क्लोराइड नेट्रम म्यूर 30, 6x दवा का रासायनिक नाम है| मासिक धर्म दौरान सिर दर्द, पढ़ते समय सर दर्द, कब्ज, शरीर में आलस बना रहना, लू लगने के कारण होने वाला सर दर्द आदि सभी सर दर्द के कारणों में इस दवा का सेवन किया जा सकता है| यह दवा सिर दर्द की अच्छी मेडिसन है|

सिर दर्द की दवा नक्सवोमिका 30 (Sar Dard Medication Naxcommica 30)

नक्सवोमिका 30 दवा कुचला के बीजो से तैयार की जाती है| कब्ज और मलत्याग सही तरीके से ना होना भी कब्ज का एक मुख्य कारण है| अगर आपको कब्ज या पेट साफ़ ना होने के कारण सिर दर्द हो रहा है, पेट में भारीपन लग रहा है, खट्टी डकारे आ रही है, तो इस होम्योपैथी दवा का सेवन आपके लिए लाभकारी है| अगर आप पुराने से पुराने सिर दर्द को ठीक करना चाहते है, तो इस होम्योपैथी दवा का सेवन कुछ दिनों तक रात को सोने से पहले करे|

सिरदर्द की दवा (Sar Dard Ki Dawa in Hindi)

1. अगर अधिक शारीरिक श्रम करने के बाद थकान के कारण सर दर्द हो रहा है, तो इस समय सिर दर्द दूर करने के लिए ‘एपिफेगस’ दवा का सेवन करे|

2. अगर सर दर्द सिर के पिछले हिस्से से शुरू होकर बाई आँख में आके स्थिर हो जाये, तो इस अवस्था में ‘स्पाइजेलिया’ औषधि 200 का इस्तेमाल करे|

3. अगर सिर दर्द सिर के पिछले हिस्से से शुरू होकर दाहिनी आंख तक आ जाता है, तो ऐसे में सैंगुनेरिया’ औषधि 200 शक्ति का इस्तेमाल करे| अगर सिर दर्द दाहिनी नहीं बाई आँख में है, तो ‘स्पाइजेलिया’ दवा का सेवन करे|

4. अगर एनीमिया या आँखों की कमजोरी के कारण स्कूल जाने वाली लड़कियों को सिर दर्द होता है, तो उन्हें कैल्केरिया फॉसफोरस 30 दवा और नेट्रमम्यूर 200 का सेवन करना चाहिए|

5. यकृत और पेट की समस्या के कारण सर दर्द होने पर आँखों के सामने काले धब्बे पड़ने लगते है, ऐसी अवस्था में आइरिस वर्सीकलर सिर दर्द की टेबलेट का सेवन करे|

सिर दर्द की गोली (Sar Dard Ki Tablet)

  • Aalcetamol
  • Altrasprint
  • Clopaser
  • Acin Plus
  • Fightspas
  • Gesnac p
  • Neosulide Plus

सिरदर्द से बचने के उपाय (Prevention for Headache in Hindi)

1. अधिक शराब के सेवन से निर्जलीकरण और सिर दर्द की समस्या हो सकती है| ऐसे में शराब के अधिक सेवन से बचे, और अगर हो सके तो शराब का सेवन पूरी तरह बंद कर दे|

2. तम्बाकू जैसे निकोटिन युक्त पदार्थो के सेवन से सिर दर्द सहित अनेक प्रकार की शारीरिक बीमारी हो सकती है| ऐसे में ऐसे पदार्थो का सेवन कभी नहीं करना चाहिए|

3. नींद पूरी ना लेना और समय पर ना सोना ही सिर दर्द का कारण है| ऐसे में सर दर्द से बचाब के लिए प्रयाप्त मात्रा में नींद ले| अपना सोने और उठने का समय निश्चित कर ले|

4. हम जब कोई भी दवा लगातार कई दिनों तक खाते है, तो एकदम से उस दवा को बंद करने पर सिर दर्द होने लगता है| यह दर्द रिबाउंड सिर दर्द कहलाता है और इसमें रोगी को अधिक दर्द होता है| ऐसे में किसी भी दवा के लम्बे सेवन से बचे|

5. समय से भोजन ना करना भी सिर दर्द का कारण है, इसीलिए समय से भोजन करने की आदत डाले|

6. तनाव, गुस्सा और क्रोद्धित रहना भी सर दर्द का कारण है, इसीलिए तनाव से दूर रहे और हमेशा अपने आप को खुश रखने की कोशिश करे|

इस पोस्ट में हमने आपको सिर दर्द की दवा, मेडिसन और टेबलेट के बारे में बताया| इन दवा का सेवन करने से पहले आप किसी अच्छे डॉक्टर से सलाह ले, क्योंकि दवा का सेवन तभी करना चाहिए, जब इनकी अधिक जरूरत है| अगर आप दर्द सहन नहीं कर पा रहे, तभी पैन किलर का सहारा ले| पैन किलर लेने से पहले घरेलू नुस्खों से सिर दर्द को दूर करने की कोशिश करे| सिर दर्द दूर करने के घरेलू नुस्खे यहाँ पढ़े – सिर दर्द का घरेलू उपचार

Disclaimer:- All content is good for health but you should take advice from Doctor before using them. We are not responsible for any harm.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

11 − five =