जैतून के तेल के 10 घरेलू फायदे : Jaitun Oil Benefits in Hindi

Jaitun ( Jatun ) Oil Benefits in Hindi

जैतून के तेल के फायदे और इस्तेमाल करने के 10 आसान घरेलू तरीके : जैतून का तेल (Olive Oil) बहुत ही बढ़िया स्वास्थ्यवर्धक तेल है| जैतून का तेल (Olive Oil) इस्तेमाल करने से कई सारी बीमारियों से बचा जा सकता है| इसका उपयोग त्वचा के लिए विशेष रूप से लाभकारी है और यह बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम कर देता है| जैतून के तेल में मौजूद पोरीफेनोल्स एंटीऑक्सीडेंट्स और फ्लेवसेनॉयड्स स्कवेलीन फ्री रैडिकल्स से कोशिकाओं को डैमेज होने से बचाता है|

Olive Oil In Hindi

सर्दियों के मौसम में जैतून का तेल / ऑलिव ऑयल रूखी त्वचा से छुटकारा पाने के लिए विशेष रूप से लाभकारी है| इसके इस्तेमाल से चेहरे की झाइयाँ खत्म हो जाती है| बालो में मौजूद डैंड्रफ भी जैतून के तेल के इस्तेमाल से ख़त्म हो जाता है| जैतून के तेल को अलग अलग राज्यों में अलग अलग नामो से जाना जाता है|

Contents

जैतून का तेल जिन पेड़ो से निकलता है, वे पेड़ केवल भूमध्य क्षेत्रों में पाएं जाते है, लेकिन जैतून के तेल के असंख्य फायदों के कारण जैतून के तेल की लोकप्रियता लोगो में तेजी से बढ़ती जा रही है| विदेशो में भी लोग इस तेल का इस्तेमाल कर इसके फायदों का भरपूर लाभ उठा रहे है| मार्किट में आजकल कम गुणवत्ता वाला जैतून का तेल भी बिक रहा है| ऐसे में अगर आप जैतून का तेल खरीदने जाएँ, तो इसकी गुणवत्ता की पूरी तरह जाँच परख कर ले|

जैतून का तेल इतना लाभकारी है, लेकिन कुछ लोग फिर भी इसका उपयोग नहीं करते| जैतून का तेल उपयोग ना करने का सबसे मुख्य कारण इसके फायदों के बारे में जानकारी ना होना है| आज हम आपको जैतून के तेल के फायदे / Olive Oil Health Benefits के बारे में बता रहे है| Jaitun Tel Ke Fayde जानने के बाद आप इसका इस्तेमाल किए बिना नहीं रह पायेगें|

ऑलिव ऑयल के लाभ दिमाग के लिए (Olive Oil for Brain)

ऑलिव ऑयल दिमाग के लिए लाभकारी होता है| इसके सेवन से संज्ञानात्मक हानि का जोखिम कम हो जाता है| 2013 में अमेरिकन केमिकल सोसायटी के अनुसार शुद्ध जैतून के तेल में फीनॉलिक घटक मौजूद होता है| जिसके कारण यह डिमेंशिया और अल्जाइमर जैसी दिमाग से जुडी बीमारियों को दूर करता है| ऑलिव ऑयल दिमाग की कमजोरी को दूर करने में भी सहायक है|

अल्जाइमर होने पर दिमाग में Beta Amyloid Plaques का निर्माण होता है| जैतून का तेल ब्रेन सेल्स से Plaques को अलग करता है| इसके अलावा ऑलिव ऑयल तनाव को कम करने में भी सहायक है|

ऑलिव ऑयल उच्च रक्तचाप में लाभकारी (Olive Oil for Blood Pressure)

एक रिसर्च के अनुसार उच्च रक्तचाप के लिए जो लोग दवाइयां ले रहे है, वो लोग ऑलिव ऑयल के इस्तेमाल से उच्च रक्तचाप की समस्या को दूर कर सकते है| जैतून के तेल में मौजूद ओलिक एसिड शरीर में आसानी से अवशोषित हो जाता है, जिसके कारण यह उच्च रक्तचाप को कम करने में सहायक है| जैतून के तेल में भरपूर मात्रा में स्वस्थ मोनोसैचुरेटिड फैट पाया जाता है, जिसके कारण इसका सेवन हृदय की उम्र बढ़ाने में भी लाभकारी है|

उच्च रक्तचाप के मरीज खाना बनाने के लिए जैतून के तेल का चुनाव करे| जैतून के तेल में बना खाना खाने से रक्त परिसंचरण में सुधार आता है, जिसके कारण उच्च रक्तचाप की समस्या से बिना दवा के छुटकारा मिल जाता है|

जैतून का तेल दिल के लिए लाभकारी (Olive Oil for Heart)

जैतून का तेल दिल के लिए विशेष रूप से लाभकारी है| प्राकृतिक जैतून के तेल में 70 % monounsaturated fatty acid मौजूद होते है, जिसके कारण जैतून का तेल ब्लड में कोलेस्ट्रोल को जमने से रोकता है| शुद्ध जैतून का तेल शरीर में एलडीएल जिसे Bad Cholesterol भी कहते है, को कम करता है और एचडीएल अर्थात Good Cholesterol को बढ़ाता है| इस तरह जैतून का तेल हमारे हार्ट के लिए बहुत फायदेमंद है|

जैतून का तेल इस्तेमाल करने से दिल मजबूत होता है, और दिल से जुडी बीमारियां होने का खतरा कम हो जाता है| रिसर्च के अनुसार जैतून का तेल इस्तेमाल करने से हार्ट अटैक आने का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है| अगर आप अपने हार्ट को स्वस्थ रखना चाहते है, तो जैतून के तेल का इस्तेमाल जरूर करे|

जैतून का तेल कैंसर रोग में उपयोगी (Olive Oil for Cancer)

जैतून का तेल उपयोग करकैंसर जैसी खतरनाक बीमारी के खतरे को भी कम किया जा सकता है| जैतून के तेल में एंटीऑक्सिडेंटस और पोलीफेनॉल्स होता है, जिसके कारण यह कैंसर के खतरे को कम करने में सहायक होता है| शुद्ध जैतून के तेल में कैंसर विरोधी तत्व पाएं जाते है, जो स्तन, कोलोरेक्टल, श्वसन तंत्र और प्रोस्टेट कैंसर के खतरे को कम करने में सहायक है| कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियां से बचने के लिए रोजाना एक से दो चम्मच जैतून का तेल अपने आहार में शामिल करे|

जैतून के तेल के फायदे बालों के लिए (Olive Oil for Hair)

जैतून के तेल में भरपूर मात्रा में विटामिन ई, एंटीऑक्सीडेंट और फैटी एसिड मौजूद होता है| जिसके कारण है, बालों के लिए एक अच्छे मॉइस्चराइजर का काम करता है| बालों में जैतून का तेल लगाने से बालों की जड़े मजबूत होती है, जिससे बालों के झड़ने और टूटने की समस्या दूर हो जाती है| घुंघराले और दो मुँहे बालों की समस्या भी जैतून का तेल लगाने से दूर हो जाती है|

अगर आपके बाल रूखे और बेजान है, तो अपने बालों को पोषण देने के लिए बालों की जैतून के तेल से मालिश करे| जैतून के तेल में अंडे की जर्दी और दो चम्मच शहद मिलाकर पेस्ट बना ले| अब इस पेस्ट से अपने बालों की जड़ो की मालिश करे और आधे घंटे बाद बालो को शैम्पू और गुनगुने पानी से अच्छी तरह धो ले| ये उपाय आपके बालो की अच्छी सेहत के लिए बहुत उपयोगी है|

जैतून का तेल त्वचा के लिए लाभकारी (Olive Oil for Skin)

विटामिन ई से युक्त जैतून का तेल हमारी त्वचा के लिए मॉइस्चराइजर का काम करता है और हमारी त्वचा की सूर्य की हानिकारक किरणों से रक्षा करता है| विटामिन ई के साथ साथ जैतून के तेल में भरपूर मात्रा में विटामिन ए, फैटी एसिड और अन्य कई खनिज तत्व पाएं जाते है, जिसके कारण यह त्वचा को नरम और चिकनी बनाने में सहायक है|

जैतून का तेल बढ़ती उम्र के लक्षणों जैसे फाइन लाइन्स, स्ट्रेच मार्क्स और झुर्रियाँ दूर करता है| अगर आप अपनी त्वचा में चमक लाना चाहते है, तो नहाने से कुछ समय पूर्व अपने शरीर की गुनगुने जैतून के तेल से मालिश करे| इससे रक्त परिसंचरण में सुधार आएगा, जिससे आपके चेहरे में नयी चमक आ जाएगी| सर्दियों के मौसम में अगर आपके होठ फट रहे है, तो अपने होंठो पर जैतून का तेल लगाएं|

ऑलिव ऑयल सूजन को कम करे (Olive Oil for Inflammation)

सूजन के कारण कैंसर, गठिया, शुगर और अल्जाइमर जैसी कई खतरनाक बीमारी हो सकती है| अगर आप सूजन को कम करना चाहते है, तो जैतून के तेल का इस्तेमाल करे| वर्षो से जैतून के तेल का इस्तेमाल सूजन को कम करने के लिए किया जा रहा है| जैतून के तेल में सूजन विरोधी गुण पाएं जाते है, जिसके कारण यह शरीर में सूजन का कारण बनने वाले एंजाइम को बनने से रोकता है| अगर आपको सूजन की समस्या है, तो दैनिक रूप से दो चम्मच जैतून के तेल को अपने आहार का हिस्सा बनाएं|

जैतून का तेल वजन घटाने में उपयोगी (Olive Oil for Weight Loss)

आजकल हर कोई बढ़ते वजन से परेशान है, यह एक ऐसी समस्या है, जो अन्य कई बीमारियों को जन्म देती है| अगर आप जैतून के तेल की सही मात्रा ले तो आप बढ़ते वजन की समस्या से छुटकारा पा सकते है| जैतून के तेल में स्वस्थ मोनोसैचुरेटिड फैट होता है, जिसके कारण यह पेट की चर्बी कम करने में सहायक है|

2013 में की गयी एक रिसर्च के अनुसार जैतून के तेल की खुशबु से तेल लम्बे समय तक भरा महसूस करता है, जिसके कारण लम्बे समय तक भूख नहीं लगती| अगर आप मोटापे की समस्या से छुटकारा पाना चाहते है, तो अपने आहार में रोजाना एक से दो चम्मच जैतून के तेल का सेवन करे|

जैतून का तेल हड्डियों के लिए लाभकारी (Olive Oil for Bones)

हड्डियों को मजबूत और स्वस्थ बनाये रखने के लिए वर्षो से जैतून के तेल का उपयोग किया जा रहा है| इस तेल की मालिश से हड्डियां मजबूत होती है और उनमे लचीलापन आता है| ऑस्टियोपोरोसिस हड्डियों से जुडी एक समस्या है, रोजाना जैतून के तेल की मालिश करने से ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे को कम किया जा सकता है| ऑस्टियोपोरोसिस से ग्रसित लोगो के लिए भी यह लाभकारी है| अगर आप अपनी हड्डियों को मजबूत बनाना चाहते है, तो रोजाना जैतून के तेल से मालिश करे या फिर अपना भोजन जैतून के तेल में बनाएं|

जैतून का तेल शुगर में लाभकारी (Olive Oil for Diabetes)

जैतून का तेल शुगर को रोकने में उपयोगी है| जैतून का तेल इंसुलिन के प्रति संवेदनशीलता को बढाकर रक्त शर्करा को कण्ट्रोल करता है| जैतून का तेल शरीर में ट्राइग्लिसराइड का स्तर भी बनाएं रखता है| एक शोध के अनुसार जैतून का तेल कम वसा वाले आहार की तुलना में टाइप 2 मधुमेह को 50 % तक कम कर सकता है| टाइप 2 मधुमेह के खतरे को कम करने के लिए और रक्त शर्करा का संतुलन बनाये रखने के लिए रोजाना दो चम्मच जैतून के तेल को अपने आहार में शामिल करे|

जैतून का तेल गुर्दे की पथरी में उपयोगी (Olive Oil for Kidney Stones)

गुर्दे की पथरी आजकल होने वाली एक आम समस्या बनती जा रही है| पथरी के कारण होने वाला दर्द असहनीय होता है| जैतून के तेल का इस्तेमाल कर आप गुर्दे की पथरी को आसानी से निकाल सकते है| डेढ़ कप पानी को थोड़ी देर उबाले| अब इस पानी में जैतून का तेल और नींबू का रस मिलाकर इसे ठंडा करके पियें| इसका सेवन नियमित रूप से कुछ दिनों तक करने से गुर्दे की पथरी धीरे धीरे निकल जायेगी|

जैतून का तेल गठिया रोग में उपयोगी (Olive Oil for Arthritis)

जैतून का तेल गठिया के कारण होने वाली सूजन को कम करता है और जोड़ो में होने वाले दर्द से छुटकारा दिलाता है| जैतून के तेल में मछली का तेल मिलाकर इस्तेमाल करने से यह गठिया रोग में बहुत लाभकारी सिद्ध होता है| गठिया रोग होने पर उस हिस्से की जैतून के तेल में मछली का तेल मिलाकर मालिश करे|

जैतून के तेल के नुकसान ( Olive Oil Side Effects in Hindi)

जैतून का तेल अगर उचित मात्रा में इस्तेमाल किया जाएँ, तो इसके अनेक फायदे है, इसके विपरीत अगर जैतून का तेल अधिक मात्रा में उपयोग किया जाएँ, तो यह शरीर के लिए कई प्रकार से हानिकारक हो सकता है| आइयें जाने जैतून का तेल अधिक इस्तेमाल करने से शरीर को किस प्रकार नुकसान का सामना करना पड़ सकता है|

1. तेलीय त्वचा वाले लोगो को जैतून के तेल का इस्तेमाल नहीं करना चाहियें| तेलीय त्वचा के कारण जैतून का तेल लगाने से त्वचा पर जलन हो सकती है, चकते पड़ सकते है, और इसके कारण आपकी त्वचा लाल पड़ सकती है|

2. जैतून के तेल की तासीर गर्म होती है, इसीलिए अधिक मात्रा में त्वचा पर जैतून का तेल लगाने से त्वचा पर मुँहासे हो सकते है|

3. अगर आपकी स्किन बहुत ज्यादा ड्राई है, तो आपके लिए जैतून का तेल अधिक उपयोगी नहीं है| शोध के अनुसार जैतून के तेल में मौजूद ओलिक एसिड त्वचा की प्राकृतिक मॉइस्चराइजिंग क्षमता को धीरे धीरे कम करने लगता है|

4. जैतून के तेल की अधिक मात्रा का सेवन करने से रक्तचाप में कमी आ जाती है, जिसके कारण स्ट्रोक और चक्कर आने जैसी स्वास्थ्य समस्या होने लगती है| ऐसे में जैतून के तेल की अधिक मात्रा का सेवन ना करे|

5. जैतून के तेल के इस्तेमाल से कुछ लोगो को जलन और एलेर्जी होती है| ऐसे लोग जैतून के तेल का इस्तेमाल ना करे|

6. जैतून के तेल के अधिक इस्तेमाल से पाचन से जुडी समस्याएं जैसे गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल और कब्ज होने लगती है|

7. अगर आपकी त्वचा बहुत अधिक तैलीय है, तो जैतून का तेल लगाने से आपको ब्लैकहेड्स की समस्या का सामना करना पड़ सकता है|

इस पोस्ट में हमने आपको जैतून के तेल के फायदे (Benefits of Olive Oil in Hindi) और इससे अधिक सेवन से होने वाले नुकसान के बारे में जानकारी दी| जैतून के तेल से जुडी ये स्वास्थय्वर्धक जानकारी आपको कैसी लगी, हमें कमेंट करके बताएं| अगर आप इस पोस्ट के बारे में हमसे कोई सवाल पूछना चाहते है, या किसी अन्य विषय पर हमसे जानकारी चाहते है, तो उसके बारे में हमें कमेंट करके बताना ना भूले| पोस्ट पसंद आने पर कमेंट करना ना भूले|

ये भी पढ़े –

गिलोय के फायदे, औषधीय गुण और 10 बड़े नुकसान
शिलाजीत के 32 फायदे, गुण, नुकसान और सेवन की विधि
काला मोतियाबिंद का उपचार | Treatment of Cataract in Hindi
तेज दौड़ने के टिप्स
पेट कम करने की कसरत
Dalchini Health Benefits in Hindi दालचीनी के फायदे व नुकसान
Top 20 Chukandar Benefits In Hindi चुकंदर जूस के फायदे और नुकसान
Food & Diet Chart for Typhoid Patients in Hindi : टाइफाइड में क्या खाएं और क्या नहीं
17 Benefits in Hindi | बादाम खाने के फायदे, तरीके, लाभ और गुण

Disclaimer:- All content is good for health but you should take advice from Doctor before using them. We are not responsible for any harm.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 + 11 =