मोरिंगा के फायदे और नुकसान Moringa Benefits in Hindi

मोरिंगा लीव्स (What is Moringa Leaves in Hindi) : मोरिंगा एक पेड़ है, जो भारत में आसानी से पाया जाता है| मोरिंगा को शिग्रु, सुरजना, मोरिंगा, मुरुन्गाई और शोभांजन भी मोरिंगा के ही नाम है| मोरिंगा का पेड़ आसानी से लग जाता है| मोरिंगा की फली से लेकर इस पेड़ का हर एक हिस्सा किसी ना किसी औषधीय दवा के निर्माण में इस्तेमाल किया जाता है|

What is Moringa in Hindi

मोरिंगा (Moringa in Hindi)

मोरिंगा की फलियों का इस्तेमाल सांभर बनाने में किया जाता है| मोरिंगा की फली की सब्जी खाने में स्वादिष्ट और स्वास्थ्यवर्धक होती है| मोरिंगा में अनेक प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते है, इसीलिए अफ्रीका के लोग उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में मोरिंगा की खेती करते है| मोरिंगा की पत्तियों (Moringa Leaves) में अमीनो एसिड , प्रोटीन बीटा कैरोटीन और अनेक प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते है| भोजन के पूरक आहार के रूप में इसकी पत्तियों का पाउडर इस्तेमाल किया जाता है|

मोरिंगा की छाल गोंद बनाने में इस्तेमाल की जाती है| इसके फूलो के इस्तेमाल से हर्बल टॉनिक का निर्माण किया जाता है| मोरिंगा के अंदर दर्द को कम करने का गुण पाया जाता है, इसीलिए मोरिंगा का इस्तेमाल अनेक प्रकार के दर्द निवारक तेल के निर्माण में किया जाता है| मोरिंगा भारत, बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान के उप-हिमालयी क्षेत्र का मूल निवासी है| मोरिंगा में इतने गुण पाए जाते है, कि यह 300 से अधिक बीमारियों के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है| चलिए मोरिंगा के अन्य फायदों के बारे में जाने|

मोरिंगा के फायदे (Moringa Benefits in Hindi)

1. मोरिंगा में विटामिन ए भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जिसके कारण यह त्वचा को जवां बनाकर बढ़ती उम्र को कम करता है| मोरिंगा के बीज के तेल से त्वचा की मालिश करने से त्वचा में चमक बनी रहती है| त्वचा को कोमल और चमकदार बनाने के लिए मोरिंगा सीड्स के तेल से मालिश करे| अगर आपके चेहरे पर पिम्पल्स रहते है, तो मोरिंगा का सेवन करे| मोरिंगा खून को साफ़ करता है, जिससे स्किन से जुडी प्रॉब्लम दूर हो जाती है|

2. शरीर के किसी भी हिस्से में सूजन और घाव है, तो मोरिंगा की पत्तियों का इस्तेमाल करे| मोरिंगा की पत्तियां (Moringa पत्ते) पानी के साथ पीसकर सूजन और घाव वाले भाग पर लगाने से सूजन और घाव ठीक हो जाते है|

3. मोरिंगा की पत्तियों का काढ़ा बनाकर पीने से उच्च रक्तचाप कण्ट्रोल हो जाता है| अगर आपको उल्टी आ रही है, या घबराहट हो रही है, तब भी मोरिंगा की पत्तियों का काढ़ा बनाकर पी ले| इससे बहुत आराम मिलता है|

4. अगर आपके सिर में दर्द हो रहा है, तो मोरिंगा के बीज को घिसकर सूंघे इससे फायदा होता है| मोरिंगा की पत्तियों का पेस्ट बनाकर सिर पर लगाने से सिर दर्द में बहुत आराम मिलता है|

5. फास्फोरस की अधिक मात्रा होने के कारण यह शरीर में जमी अतरिक्त वसा और अतरिक्त कैलोरी को कम करता है| जिससे मोटापा कम होता है| अगर आप मोटापा कम करना चाहते है, तो मोरिंगा की पत्तियों का रस निकालकर रोजाना पियें|

6. मोरिंगा की पत्तियां मोच ठीक करने में इस्तेमाल की जाती है| मोरिंगा की पत्तियों को सरसो के तेल में पकाये| अब इस तेल को ठंडा करके मोच वाले भाग पर लगाए|

7. मोरिंगा की फली की सभी खाने में स्वादिष्ट और सेहत के लिए फायदेमंद होती है| इसकी फली की सब्जी खाने से मूत्राशय और गुर्दे की पथरी पिघलकर पेशाब के रास्ते निकल जाती है| मोरिंगा की फली की सब्जी खाने से कब्ज में भी आराम मिलता है|

8. मोरिंगा में कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है, इसीलिए रोजाना किसी ना किसी रूप में मोरिंगा का सेवन करने से दांत और हड्डियां मजबूत होती है|

9. मोरिंगा की पत्तियों को पानी में उबाले और इसकी भाप ले| इस भाप को लेने से सर्दी के कारण बंद कान नाक खुल जायेगे और शरीर की अकड़न भी दूर होगी|

10. अगर आपके दांतो में कीड़ा लगा है, या आपके मसूढ़ों से खून आता है, तो मोरिंगा की पत्तियों को चबाकर खाये| मोरिंगा की पत्तियां खाने से दांतो में कीड़ा नहीं लगता और मसूढ़ों से खून आना भी बंद हो जाता है|

11. मोरिंगा की पत्तियों का रस पीने से पाचन से जुडी सभी परेशानियां दूर हो जाती है| अगर आपको पेचिस, दस, हैजा और पीलिया जैसी पाचन से जुडी परेशानी है, तो नारियल पानी में मोरिंगो की पत्तियों का एक चम्मच रस और एक चम्मच शहद मिलाकर पियें|

12. मोरिंगा में आयरन की अधिक मात्रा पायी जाती है, जिसके कारण ये खून को साफ़ करके खून की कमी को दूर करता है| एनीमिया में भी मोरिंगा का सेवन लाभकारी है|

13. अगर आपके पेट में कीड़े है, तो मोरिंगा के फूलो का इस्तेमाल करे| मोरिंगा के फूलो के इस्तेमाल से पेट के कीड़े कम हो जाते है| इसके साथ ही मोरिंगा के फूल वात और पित्त में संतुलन बनाये रखते है|

14. जो महिलाएं माँ बनने वाली है, उनको मोरिंगा की फली की सब्जियां खानी चाहिए| मोरिंगा की फली की सब्जी खाने से डिलीवरी के दौरान होने वाला दर्द कम होता है और होने वाला बच्चा भी सेहतमंद पैदा होता है|

15. कान के दर्द को ठीक करने के लिए भी मोरिंगा लीव्स का इस्तेमाल किया जाता है| कान में दर्द होने पर मोरिंगा की पत्तियों का रस कान में डाले| इससे कान दर्द में आराम मिलेगा|

मोरिंगा के नुकसान (Moringa Side Effects in Hindi)

1. रक्तस्राव विकार होने पर मोरिंगा का सेवन नहीं करना चाहिए|

2. जिन लोगो का पेट सवेंदशील है या जिन्हे गैस की प्रॉब्लम है, वो लोग मोरिंगा का सेवन ना करे|

3. मोरिंगा के सेवन से ऐसे लोगो के पेट में जलन बढ़ सकती है|

4. मोरिंगा पित्त बढ़ाता है, इसीलिए मासिक धर्म के समय इसका सेवन नहीं करना चाहिए|

5. माँ बनने वाली औरत केवल मोरिंगा के फल का इस्तेमाल करे, मोरिंगा के फूल, छाल और और जड़ का इस्तेमाल किसी भी रूप में ना करे|

6. प्रसव के कुछ हफ्तों बाद इसका सेवन कर सकते है, लेकिन प्रसव के तुरंत बाद मोरिंगा का सेवन किसी भी रूप में करना हानिकारक है|

मोरिंगा में मौजूद मुख्य पोषक तत्व (Moringo Nutramatrix in Hindi)

  • सोडियम (Sodium)
  • विटामिन ई (Vitamin E)
  • विटामिन सी (Vitamin C)
  • जिंक फास्फोरस (Zinc Phosphorus)
  • विटामिन A (Vitamin A)
  • कॉपर (Copper)
  • रिबोफ्लोविन (Reboflovin)
  • थायमिन (Thamine)
  • पोटेशियम (Potassium)
  • विटामिन B1 (Vitamin B1)
  • डिएटरी फिब्रेस (Diatri fibres)
  • बिटामिन B1 (Bitamin B1)
  • ऑक्सालेट (Oxalate)
  • वाटर कार्बोहाइड्रेट्स (Water Carbohydrates)
  • विटामिन B2 (Vitamin B2)
  • प्रोटीन (Protein)
  • विटामिन B3 (Vitamin B3)
  • विटामिन B5 (Vitamin B5)
  • विटामिन B6 (Vitamin B6)
  • कैल्शियम (Calcium)

इस पोस्ट में हमने आपको मोरिंगा पेड़, मोरिंगा लीव्स और मोरिंगा फ्रूट के फायदों के बारे में बताया| मोरिंगा से जुडी ये पोस्ट आपको कैसी लगी, कमेंट करके बताये| कमेंट करने के लिए पोस्ट के निचे बने कमेंट बॉक्स को फील करे|

Disclaimer:- All content is good for health but you should take advice from Doctor before using them. We are not responsible for any harm.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen + twenty =