माइग्रेन का घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज : Migraine Treatment in Ayurveda in Hindi

माइग्रेन का इलाज करने के सबसे आसान देसी नुस्खे

Migraine Treatment in Hindi : माइग्रेन को आधा सिर दर्द और अधकपारी जैसी नामो से भी जाना जाता है| माइग्रेन सिर दर्द से जुड़ा एक रोग है| विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया में मौजूद 20 अक्षम चिकित्सा स्थितियो में माइग्रेन का दर्द भी है| माइग्रेन का दर्द सिर के एक हिस्से में बहुत तेजी से होता है और यह दर्द बढ़ता ही जाता है| सामान्य सिर दर्द के तुलना में माइग्रेन का दर्द बहुत तेज होता है| माइग्रेन के एक बार का दर्द 72 घंटो तक का हो सकता है|

Migraine Treatment in Hindi

माइग्रेन के दर्द से छुटकारा पाने के लिए मार्किट में अनेक प्रकार की दवा मौजूद है, लेकिन इन दवा के उपयोग से पहले आप माइग्रेन के इलाज के लिए घरेलू उपचार अपनाये| माइग्रेन का इलाज करने के लिए बहुत सारे घरेलू और आयुर्वेदिक नुस्खे है, जिनके इस्तेमाल से आप बिना दवा माइग्रेन का इलाज घर पर ही कर सकते है| चलिए जाने माइग्रेन के इलाज के देशी और घरेलू नुस्खे|

Contents

माइग्रेन का घरेलू उपचार ( Headache Home Remedy in Hindi)

कैमोमाइल टी माइग्रेन के इलाज के लिए (Chamomile Tea for Migraine in Hindi)

अगर आप माइग्रेन के दर्द से पीड़ित है, तो रोजाना एक से दो कप कैमोमाइल टी का सेवन करे| एक शोध के अनुसार रोजाना कैमोमाइल टी पीने से माइग्रेन होने का खतरा कम हो जाता है| कैमोमाइल टी में मौजूद soothing, एंटीस्पास्मोडिक और एंटी-इंफ्लामेट्री गुण माइग्रेन के दर्द से निजात दिलाने में मदद करते है| बाजार में अनेक प्रकार की कैमोमाइल टी मौजूद है| माइग्रेन से छुटकारा पाने के लिए जर्मन कैमोमाइल सबसे अधिक उपयोगी है, इसीलिए जर्मन कैमोमाइल ही खरीदे| एक कप गर्म पानी में दो चम्मच जर्मन कैमोमाइल डालकर 10 मिनट के लिए उबाले| अब इसे छलनी से छाने और इसमें शहद और नींबू का रस मिलाकर पियें| इसका सेवन दिन में दो बार करे|

Chamomile Tea for Migraine in Hindi

माइग्रेन का उपचार आइस पैक से (Ice Pack for Migraine in Hindi)

अगर आप माइग्रेन के दर्द और तनाव से छुटकारा पाना चाहते है, तो आइस पैक का इस्तेमाल करे| माइग्रेन के दर्द से छुटकारा पाने का यह सबसे पुराना और प्रचलित घरेलू नुस्खा है| आइस पैक त्वचा को सुन्न करता है, जिससे दर्द का अनुभव कम हो जाता है| आइस पैक को एक सूती कपडे में बांधकर कुछ देर के लिए अपने माथे पर रखे| अब एक सूती कपडे को गर्म पानी में डुबोकर कुछ समय के लिए माथे पर रखे और हॉट कम्प्रेस दे| हॉट कम्प्रेस का इस्तेमाल गर्दन के पीछे करे| माइग्रेन के दर्द से छुटकारा पाने का यह सबसे सस्ता और आसान उपाय है| अगर अच्छा रिजल्ट पाना चाहते है, तो पानी में पेपरमिंट और लैवेंडर आयल मिला सकते है|

Ice Pack for Migraine in Hindi

माइग्रेन का घरेलू इलाज सेब के सिरके से (Apple Cider Vinegar for Migraine in Hindi)

सेब के सिरके को Nutritional powerhouse माना जाता है| जिसके कारण सेब का सिरका माइग्रेन का दर्द कम करने में सहायक है| इसके साथ ही सेब के सिरके में पोटैशियम पाया जाता है| पोटैशियम माइग्रेन और सर दर्द को कम करने में सहायक है| माइग्रेन के दर्द से निजात पाने के लिए एक गिलास पानी में एक चम्मच सेब का सिरका, एक चम्मच शहद और एक चम्मच नींबू का रस घोलकर पियें| रोजाना इस घरेलू नुस्खे को अपनाने से माइग्रेन के दर्द से राहत मिलेगी| माइग्रेन का दर्द होने पर सेब के सिरके की मात्रा दो चम्मच कर दे|

Apple Cider Vinegar for Migraine in Hindi

फीवरफ्यू से माइग्रेन का घरेलू उपचार (Feverfew for Migraine in Hindi)

फीवरफ्यू एक जंगली सुगन्धित पौधा होता है| यह यूरोप और एशिया के जंगलो में पाया जाता है| इसका इस्तेमाल माइग्रेन सिर दर्द के इलाज में वर्षो से किया जा रहा है| फीवरफ्यू में Parthenolide नामक कंपाउंड होता है| यह इन्फ्लामेशन को रोकने और मांसपेशियों के ऊतकों में होने वाली ऐंठन को कम करता है| एक गिलास पानी में फीवरफ्यू की पत्तियां और एक चम्मच पुदीने का पाउडर डालकर आधे घंटे तक उबाले| अब इसे छानकर दिन में दो से तीन बार चाय की तरह पियें| इस नुस्खे से माइग्रेन का दर्द पूरी तरह गायब हो जायेगा| मार्किट में फीवरफ्यू के सप्लीमेंट भी मौजूद है, आप इनका सेवन डॉक्टर की सलाह लेकर कर सकते है|

Feverfew for Migraine in Hindi

माइग्रेन का उपचार पुदीने से (Peppermint for Migraine in Hindi)

पुदीना सर दर्द और माइग्रेन का दर्द दूर करने में उपयोगी है| एक शोध के अनुसार पुदीने से आने वाली खुशबु सिर दर्द और माइग्रेन के दर्द को दूर करती है| पुदीने में मौजूद एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण तंत्रिकाओं को शांत करते है| माइग्रेन के दर्द से राहत पाने के लिए रोजाना पुदीने से बनी चाय पियें| स्वाद बढ़ाने के लिए चाय में शहद मिला ले| पुदीने के तेल की मालिश से भी माइग्रेन का दर्द दूर हो जाता है| माइग्रेन का दर्द होने पर पुदीने के तेल की दो से चार बुँदे लेकर माथे की दिन में तीन से चार बार मालिश करे|

Peppermint for Migraine in Hindi

केसर से माइग्रेन का देशी इलाज (Saffron for Migraine in Hindi)

केसर का इस्तेमाल वर्षो से माइग्रेन के इलाज में किया जा रहा है| एक चम्मच घी में एक चुटकी केसर पाउडर मिलाये और दोनों नाक के छेद में एक एक बून्द डाले और 15 मिनट ले बाद इसे धो ले| अच्छे रिजल्ट के लिए दिन में दो से तीन बार इस नुस्खे को आजमाए|

Saffron for Migraine in Hindi

कॉफी से माइग्रेन का घरेलू उपचार (Coffee for Migraine Relief in Hindi)

अगर आप माइग्रेन के दर्द से राहत पाना चाहते है, तो रोजाना एक कप माइग्रेन का इलाज कॉफी का सेवन करे| कॉफी में मौजूद कैफीन माइग्रेन पैदा करने वाले कई रिसेप्टर्स को ब्लॉक कर देता है| अगर आप अच्छा रिजल्ट पाना चाहते है, तो कॉफी में नींबू के रस की कुछ बुँदे भी डाल सकते है| ध्यान रहे कुछ लोगो में कैफीन माइग्रेन के दर्द का कारण भी बन सकता है और कैफीन का अधिक सेवन भी माइग्रेन के दर्द का कारण है, इसीलिए इसका सेवन अधिक मात्रा में ना करे, और आपको कॉफी लेनी चाहिए या नहीं इसके बारे में एक बार अपने डॉक्टर से सलाह जरूर ले|

Coffee for Migraine Relief in Hindi

लाल मिर्च माइग्रेन का देशी इलाज (Red Chilli for Migraine in Hindi)

माइग्रेन या अधकपारी के इलाज के लिए आप लाल मिर्च का उपयोग भी कर सकते है| माइग्रेन के इलाज का यह एक अच्छा घरेलू नुस्खा है| लाल मिर्च में कैप्सैसीन पाया जाता है, यह नेचुरल दर्दनिवारक का काम करता है| लाल मिर्च का सेवन करने से ब्लड सर्कुलेशन उत्तेजित होता है, जिससे शरीर में ब्लड का फ्लो बढ़ता है| माइग्रेन सिर दर्द को दूर करने के लिए एक चम्मच लाल मिर्च को एक कप गुनगुने पानी में घोलकर पी जाये| अगर आपको मिर्च तेज लग रही है, तो इसमें स्वादानुसार शहद और नींबू का रस मिला ले|

Red Chilli for Migraine in Hindi

धनिये के बीज माइग्रेन के इलाज में (Coriander Seeds for Migraine Relief in Hindi)

धनिया एक महाऔषधि है, जो अनेक प्रकार के रोगो के इलाज में उपयोगी है| माइग्रेन और सिर दर्द के इलाज के लिए धनिये का इस्तेमाल दवा की तरह किया जाता है| धनिये की बीजो की चाय माइग्रेन के दर्द से राहत दिलाती है| धनिये के बीजो को पानी में डालकर कुछ देर के लिए उबाले| इसके बाद इसे छलनी से छानकर इसमें चीनी मिलाकर पियें| धनिये के बीज से बनी ये चाय माइग्रेन सहित सिर दर्द के इलाज में भी उपयोगी है|

Coriander Seeds for Migraine Relief in Hindi

अदरक की चाय माइग्रेन के इलाज के लिए (Ginger Tea for Migraine in Hindi)

माइग्रेन के दर्द से प्राकृतिक रूप से छुटकारा पाने के लिए अदरक की चाय पियें| Phytotherapy अनुसंधान की 2013 में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार अदरक माइग्रेन के दर्द के इलाज में बहुत उपयोगी है| अदरक रक्त वाहिकाओं में सूजन और मांसपेशियों में दबाव को कम करता है| अदरक का सेवन करने से शरीर में मौजूद Prostaglandins ब्लॉक होते है| Prostaglandins शरीर में मौजूद एक प्रकार का केमिकल है| यह केमिकल हॉर्मोन्स पर असर डालते है, मांसपेशी संकुचन को बढ़ाते है और दिमाग के रक्त कणों में इन्फ्लामेशन को कण्ट्रोल में रखता है|

Ginger Tea for Migraine in Hindi

अगर आप माइग्रेन सिर दर्द से छुटकारा पाना चाहते है, तो दिन में दो से तीन बार अदरक की चाय का सेवन करे| अदरक की चाय का स्वाद बढ़ाने के लिए उसमे नींबू का रस और शहद मिला सकते है| अगर आप चाहे तो अदरक को चबाकर भी खा सकती है|

सेब से माइग्रेन का घरेलू उपचार (Apple for Migraine in Hindi)

सेब एक ऐसा फल है, जो आपको पूरी तरह से स्वस्थ रखता है| एक कहावत भी है, कि रोजाना एक सेब का सेवन आपको डॉक्टर से दूर रखता है| माइग्रेन के इलाज में भी सेब का सेवन बहुत लाभकारी है| एक शोध के अनुसार सेब की खुशबु मात्र से ही माइग्रेन की गंभीरता और आवृत्ति में कमी आ जाती है| माइग्रेन के दर्द से राहत पाने के लिए रात को सेब काटकर चांदनी रात में रख दे और फिर सुबह इस सेब को खाये|

Apple for Migraine in Hindi

लैवेंडर तेल से माइग्रेन का देशी इलाज (Lavender oil for Migraine in Hindi)

खुशबूदार लैवेंडर तेल माइग्रेन के दर्द से छुटकारा पाने के लिए एक अच्छा घरेलू उपाय है| माइग्रेन दर्द को दूर करने के लिए आप इस तेल का सेवन करे या इसकी खुशबु को सूंघे| तीन कप पानी को उबाले और उबलते पानी में तीन से चार बून्द लैवेंडर तेल की डाले और इसकी खुशबु को सूंघे| इससे माइग्रेन का दर्द काफी कम हो जायेगा|

Lavender oil for Migraine in Hindi

तुलसी से माइग्रेन का देशी इलाज (Basil for Migraine Relief in Hindi)

तुलसी के तेल और तुलसी की पत्तियों की खुशबु मात्र से माइग्रेन के दर्द से राहत मिल जाती है| तुलसी के तेल की मालिश से दर्द दूर होता है और मांसपेशियों को आराम मिलता है| माइग्रेन का दर्द होने पर तुरंत तुलसी के तेल से मालिश करे या तुलसी की ताज़ी पत्तियों को चबाकर खाये| तुलसी की चाय बनाकर पीने से भी माइग्रेन के दर्द से राहत मिलती है| स्वाद बढ़ाने के लिए तुलसी की चाय में शहद मिला सकते है|

Basil for Migraine Relief in Hindi

माइग्रेन का आयुर्वेदिक इलाज (Migraine Treatment in Ayurveda in Hindi)

1. सुबह के समय माइग्रेन के मरीज की नाक के दोनों सुर में गुनगुने घी की एक से दो बून्द डाले| रोजाना इस नुस्खा अपनाने से माइग्रेन का दर्द हमेशा के लिए खत्म हो जायेगा|

2. माइग्रेन और सिर दर्द से पीड़ित लोगो को रोजाना सुबह देशी घी में मिश्री और काली मिर्च मिलाकर सेवन करना चाहिए|

3. माइग्रेन के सिर दर्द से निजात पाने के लिए तुलसी के सूखे पत्तो की खुशबु मरीज को सुँघाये|

4. माइग्रेन के दर्द से राहत पाने के लिए लौंग अथवा पुदीने को पीसकर कनपटी पर लगाये|

5. माइग्रेन का दर्द जिस हिस्से में है, उस हिस्से में पान का पत्ता हल्का गर्म करके बांध दे| इससे काफी आराम मिलेगा|

6. माइग्रेन के दर्द को कम करने के लिए शहद में तुलसी की पत्तियों का पाउडर मिलाकर चाटे|

7. अगर आपको माइग्रेन का सिर दर्द अचानक हो जाता है, तो रात को सोने से पहले पैरो के तलवों की मालिश करे|

8. माइग्रेन का दर्द अगर माथे, कनपटी और सिर पर ठण्ड लगने के कारण हो तो जायफल का लेप बनाकर लगाए| इससे दर्द में आराम मिलेगा|

9. माइग्रेन के दर्द से राहत पाने के लिए सिर और माथे की किसी अच्छे तेल से मालिश करे|

Disclaimer:- All content is good for health but you should take advice from Doctor before using them. We are not responsible for any harm.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 + eight =