तेज कमर दर्द की दवा कारण घरेलू इलाज और देसी उपाय

बढ़ते कमर दर्द की दवा और आसान उपचार

कमर दर्द तेजी से बढ़ने वाली एक आम समस्या बन चुकी है| कमर दर्द की समस्या किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती है, लेकिन 40 साल की उम्र पार करने के बाद इस बीमारी का खतरा बढ़ जाता है| एक शोध के अनुसार 60 % लोग अपने जीवनकाल में कभी ना कभी कमर दर्द की समस्या से पीड़ित होते है| शुरूआती अवस्था में कमर दर्द दर्दनाक नहीं होता, लेकिन उम्र बढ़ने के साथ साथ इसके कारण होने वाला दर्द बढ़ता जाता है|

Kamar Dard

 

कमर के नीचे दर्द (Kamar Dard in Hindi)

कमर दर्द बहुत अधिक गंभीर नहीं होता, लेकिन अगर समय रहते कमर दर्द का उपचार ना कराया जाये, तो यह काफी कष्टदायक हो सकता है| कमर दर्द होने पर अक्सर पीठ में दर्द, अकड़न और खिंचाव होने लगता है| कमर का दर्द अनेक कारणों से हो सकता है, गलत तरीके से बैठकर काम करने या अचानक गिरने या कोई काम करने से भी कमर में दर्द हो सकता है|

कमर दर्द होने पर अपने दैनिक कार्यो को करते समय सावधानी बरते| कमर में बहुत तेज दर्द होने पर बैठकर कोई भी काम ना करे और जितना हो सके आराम करे| अगर आपको काम करना पड़े तो बहुत धीरे धीरे काम करे और अपनी कमर को अधिक ना घुमाये| कमर को अधिक घुमाने से कमर में होने वाला दर्द और बढ़ सकता है|

कमर दर्द का इलाज घरेलू और आयुर्वेदिक तरीको से आसानी से किया जा सकता है| अगर कमर दर्द गलत तरीके से बैठने उठने के कारण हो रहा है, तो अपने बैठने और उठने के तरीको में थोड़ा सा बदलाव लाने से कमर में होने वाला दर्द दो से तीन दिनों में अपने आप ठीक हो जाता है| बहुत कम मामलों में कमर दर्द का इलाज करने के लिए Surgery की जरुरत पड़ती है| इस पोस्ट में हम आपको कमर दर्द होने के कारण और इसके शुरूआती लक्षणों के बारे में विस्तार से बता रहे है|

कमर दर्द के लक्षण (Kamar Dard Ke Lakshan)

कमर दर्द का मुख्य लक्षण कमर में दर्द होना है, लेकिन कमर दर्द के साथ इसके अन्य कई शुरूआती लक्षण भी होते है| इन लक्षणों को पहचान कर हमें कमर दर्द का इलाज कराने में मदद मिलेगी| आइये जाने कमर दर्द के अन्य शुरूआती लक्षणों के बारे में|

  • बिना कारण वजन घटना
  • पेशाब पर नियंत्रण खोना
  • गुदा आस पास सुन्नता
  • पेशाब करने में परेशानी होना
  • कमर के निचले हिस्से में सूजन आना
  • शरीर का तापमान बढ़ना
  • नितंबों के आस पास सुन्न होना
  • अचानक कमर में चोट लगना या झटका आना
  • कमर से दर्द पैरो तक चला जाता है
  • आँतों पर नियंत्रण खोना
  • कमर में हर समय दर्द रहना
  • दर्द कमर से पैरो के घुटनों तक चला जाता है

कमर दर्द के कारण (Kamar Dard Ke Karan)

  • मांसपेशियों में ऐंठन होना
  • मांसपेशियों में खिंचाव होना
  • लिगामेंट्स का तनावपूर्ण होना
  • देर तक कंप्यूटर पर काम करना
  • क्षमता से अधिक भारी वजन उठाना
  • वस्तु को गलत तरीके से उठाना
  • झुककर लम्बे समय तक काम करना
  • एक ही पोजीशन में लम्बे समय तक बैठना

कमर दर्द के अन्य कारण (Kamar Dard Other Reason in Hindi)

1. डिस्क में उभार होने के कारण तंत्रिका तंत्र पर अधिक दबाव पड़ता है, जिसके कारण कमर दर्द हो सकता है|

2. जिन लोगो को रीढ़ की हड्डी में कैंसर होता है, उनको कमर दर्द की समस्या होने लगती है|

3. जो लोग बहुत कम सोते है या बिलकुल भी नहीं सोते, उनमे कमर दर्द की समस्या अधिक देखने को मिलती है|

4. जो लोगो को साइटिका का दर्द होता है, उनमे कमर दर्द होने का जोखिम बढ़ जाता है|

5. सोने के लिए बहुत अधिक मुलायम या बहुत अधिक कठोर बिस्तर का इस्तेमाल करने के कारण भी कमर में दर्द हो सकता है|

6. रीढ़ में असामान्य तरीके से किसी भी प्रकार का टेढ़ापन आने के कारण कमर दर्द होने लगता है|

7. डिस्क टूटने या डिस्क में अन्य किसी प्रकार की समस्या होने के कारण भी कमर दर्द होने लगता है|

8. रीढ़ की हड्डी में संक्रमण होना भी कमर दर्द का कारण हो सकता है|

9. गठिया अर्थात ऑस्टियोआर्थराइटिस से ग्रसित व्यक्तियों में कमर दर्द होने का खतरा बढ़ जाता है|

10. जिन लोगो को ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या रहती है, उनमे कमर दर्द होने का खतरा बढ़ जाता है|

कमर दर्द से बचाव (Prevention of Back Pain in Hindi)

1. अगर आप कमर दर्द से बचना चाहते है, तो नियमित रूप से योग और व्यायाम करे| योग और व्यायाम करने से शरीर की हड्डियां मजबूत होती है और मांसपेशियों में लचीलापन आता है, जिसके कारण शरीर अच्छी तरह से काम करता है और कमर दर्द जैसी समस्या नहीं होती है| कमर दर्द से बचाव के लिए सैर और तैराकी सबसे अच्छे व्यायाम है|

2. कमर दर्द से बचने के लिए लम्बे समय तक एक ही पोजीशन में ना बैठे| अगर आपको बैठकर काम करना पड़ता है, तो ऐसी कुर्सी का इस्तेमाल करे जो अच्छा बैक सपोर्ट दे|

3. कमर दर्द से बचने के लिए आरामदायक बिस्तर का चुनाव करे| आपका बिस्तर बहुत अधिक सख्त या बहुत अधिक मुलायम नहीं होना चाहिए|

4. बैठकर काम करते समय आगे की तरह झुककर काम ना करे| ऐसा करने से कमर में दर्द होने लगता है|

5. अधिक वजन होने के कारण कमर की मांसपेशियों अधिक दवाब पड़ता है, जिसके कारण कमर दर्द होने लगता है| ऐसे में अगर आप कमर दर्द से बचना चाहते है, तो स्वस्थ वजन बनाये रखे|

6. अपनी सामर्थ्य से अधिक वजन कभी भी न उठाये| क्षमता से अधिक वजन उठाने के कारण कमर दर्द सहित अन्य हेल्थ प्रॉब्लम होने लगती है|

कमर दर्द का आयुर्वेदिक इलाज (Kamar Dard Ka Ayurvedic Ilaj)

1. मेथी के तेल से कमर की मालिश करने से कमर दर्द में आराम मिलता है|

2. लौंग और सरसों के तेल को बराबर मात्रा में मिलाकर कमर की मालिश करने से कमर दर्द में आराम मिलता है| इस मालिश से कमर की हड्डियों में मजबूती भी आती है|

3. कमर दर्द दूर करने के लिए नहाने के पानी में थोड़ा सेंधा नमक मिला ले| इसके अलावा कमर दर्द होने पर कमर पर गरम पट्टी बांधने पर भी आराम मिलता है|

4. गेहूं के आटे की रोटी को एक तरह से सेककर उसपर तिल का तेल लगा ले| अब इस रोटी को कुछ देर के लिए कमर दर्द वाले हिस्से पर बांध दे| इससे कमर दर्द में आराम मिलता है|

5. अलसी के बीजो का रोजाना सेवन करने से आपको कभी भी कमर दर्द की समस्या नहीं होगी| ध्यान रहे अलसी गर्म होती है, इसीलिए गर्मियों में इसकी कम मात्रा का सेवन करे|

कमर दर्द का घरेलू उपचार (Kamar Dard Ka Gharelu Ilaj)

1. गर्म कढ़ाई में तीन से चार चम्मच नमक डालकर नमक को कुछ देर भून ले| अब इस गर्म नमक को एक सूती कपडे में बांधकर पोटली बना ले| अब कमर के जिस हिस्से में दर्द हो रहा है, उस हिस्से की इस पोटली से सिकाई करे| कमर दर्द दूर करने का यह भी अच्छा उपाय है|

2. सरसों के तेल में लहसुन की चार से पांच कलियाँ छीलकर डालें| अब इस तेल को जब तक गर्म करे, जब तक लहसुन का रंग सुनहरा ना हो जाएँ| अब इस तेल को ठंडा करने इस तेल से कमर की रोजाना मालिश करे| इस तेल की मालिश से कमर दर्द में आराम मिलेगा| अगर आपके पास सरसों का तेल नहीं है, तो आप नारियल के तेल का इस्तेमाल भी कर सकती है|

3. गर्म पानी में सेंधा नमक डालकर मिलाएं| अब इस पानी में एक सूती तौलिया का डुबाएं और अब इस निचोड़कर इस तौलिया से अपनी कमर को भाप दे| भाप के माध्यम से कमर दर्द को आसानी से कम किया जा सकता है|

4. कमर दर्द में आराम पाने के लिए अजवाइन को तवे पर सेककर चबाकर खाएं| कमर दर्द कम करने का यह आसान और सस्ता उपाय है|

5. शरीर में कैल्शियम की कमी के कारण हड्डियां कमजोर हो जाती है, जिसके कारण कमर दर्द सहित हड्डियों से जुडी अनेक प्रकार की बीमारियां होने लगती है| इन सब बीमारियों से बचने के लिए अपने भोजन में कैल्शियम युक्त सब्जियों और फलो का भरपूर मात्रा में सेवन करे|

कमर दर्द की घरेलू दवा (Kamar Dard Ki Dawa)

1. अदरक में विरोधी भड़काऊ यौगिक पाए जाते है, जिसके कारण यह कमर दर्द के इलाज में सहायक है| कमर दर्द होने पर अदरक की चाय पियें| अदरक के कुछ टुकड़े एक कप पानी में डाले और पानी को जब तक उबाले जब तक पानी आधा कप ना रह जाएँ| अब इस पानी को कप में छान ले और इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर इसका सेवन करे|

2. हरिताकी (Terminalia chebula) एक विशेष प्रकार का फल है| कमर दर्द से पीड़ित लोग अगर खाना खाने से पहले रोजाना इस फल को खाएं, तो उन्हें कमर दर्द में आराम मिलेगा|

3. गुनगुने अरंडी के तेल से कमर की मालिश करने से कमर दर्द में कुछ ही दिनों में आराम हो जायेगा|

4. एलोवेरा एक विशेष प्रकार की प्राकर्तिक जड़ीबूटी है| यह अनेक प्रकार के रोगो के उपचार में उपयोग की जाती है| कमर दर्द से ग्रसित लोगो को एलोवेरा के लड्डू बनाकर खाने चाहिए| एलोवेरा के लड्डू खाने से कमर दर्द में आराम मिलता है|

5. गुनगुने पुदीने के तेल में गुनगुना तारपीन का तेल मिलाये और इस तेल से अपनी कमर की मालिश करे| इस तेल की मालिश से एक हफ्ते में ही आपको कमर दर्द से काफी हद तक राहत मिल जायेगी|

6. कमर के निचे दर्द होने पर कुछ दिनों तक निम्बू के रस में थोड़ा नमक मिलाकर पियें| इससे कमर के निचे होने वाले दर्द में आराम मिलता है|

कमर दर्द में परहेज़ (Kamar Dard Me Parhej)

  • संतृप्त वसा युक्त आहार का अधिक मात्रा में सेवन ना करे
  • रिफाइंड आहार का सेवन ना करे
  • ट्रांस फैट युक्त आहार का सेवन ना करे
  • मिश्रित वनस्पति तेल का सेवन ना करे
  • प्रोसेस्ड आहार का सेवन ना करे

कमर दर्द में आहार (Kamar Dard Me Aahar)

1. शरीर में विटामिन डी की कमी कमर दर्द का मुख्य कारण है| ऐसे में कमर दर्द से ग्रसित लोगो को विटामिन डी युक्त आहार का अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए| विटामिन डी लेने के लिए सुबह की धुप में 25 से 30 मिनट के लिए जरूर बैठे| धुप विटामिन डी का अच्छा स्त्रोत है|

2. कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए और कमर दर्द ना हो इसके लिए अपने आहार में विटामिन ई युक्त फलो और सब्जियों को भरपूर मात्रा में शामिल करे|

3. कमर दर्द में अन्नानास, लहसुन, हल्दी और अदरक का सेवन करे|

4. कमर दर्द होने पर विटामिन सी युक्त फलो और सब्जियों का उचित मात्रा में सेवन करे| विटामिन सी कमर दर्द में बहुत उपयोगी है|

इस पोस्ट में हमने आपको कमर दर्द के बारे में विस्तार से बताया| कमर दर्द एक ऐसी समस्या बन चुकी है, जिससे आज हर दूसरा व्यक्ति परेशान है| ऐसे में यह पोस्ट बहुत से लोगो के लिए उपयोगी साबित होगी| आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी, हमें कमेंट करके जरूर बताये| कमेंट करने के लिए पोस्ट के निचे बने कमेंट भरे|

Disclaimer:- All content is good for health but you should take advice from Doctor before using them. We are not responsible for any harm.

कुछ बेहतरीन घरेलू उपाय भी जानें –
घुटनों में दर्द का आयुर्वेदिक इलाज
तनाव को कंट्रोल करना सीखें
(चिंता) के लक्षण, कारण और इलाज
किडनी इन्फेक्शन (Kidney Infection in Hindi) के लक्षण
सांस फूलने का इलाज, दवा, कारण और देसी घरेलू नुस्खे
हार्ट पेशेंट को क्या खाना चाहिए
साइटिका के लक्षण और दवा
भगन्दर का होम्योपैथिक इलाज, दवा और घरेलू उपचार
ऐसे करें साइनस का इलाज [आयुर्वेदिक]
साइनस क्या है? व इसके लक्षण

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

20 − 10 =