गिलोय के फायदे, औषधीय गुण और 10 बड़े नुकसान

गिलोय की बेल के फायदे और नुकसान

गिलोय के फायदे, पहचान, नुकसान एवं घरेलू उपाय : गिलोय भारत में पाई जाने वाली सबसे महत्वपूर्ण आयुर्वेदिक औषधि और जड़ी बूटियों में से एक है| गिलोय के अमृता और गुडूची जैसे अनेक संस्कृत नाम है| Tinospora Cordifolia गिलोय का वनस्पतिक नाम है| देखने में गिलोय के पत्ते पान के पत्ते के जैसे होते है| गिलोय एक बेल होती है, जो आसानी से किसी पेड़, बेल या गमले में लगाने पर एक रस्सी के सहारे तेजी से बढती है|

Giloy in Hindi

गिलोय क्या है ( What is Giloy in Hindi)

गिलोय का एक विशेष गुण यह है, कि इसकी बेल जिस पेड़ के सहारे फैलती है अर्थात जिस पेड़ को अपना आधार बनाती है, इस के अन्दर उस पेड़ के गुण भी समाहित हो जाते है| जैसे अगर गिलोय की बेल नीम के पेड़ के सहारे बढ़ रही है, तो नीम के पेड़ के सभी गुण गिलोय की बेल में आ जायेगे|

गिलोय में अनेक प्रकार के गुण पायें जाते है, जिसके कारण यह अनेक प्रकार की बीमारियों में लाभकारी है| गिलोय में एंटीवायरल और एंटीबायोटिक तत्व पायें जाते है, जिसके कारण यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक है| इसके साथ ही गिलोय में वात, कफ और पित्त नाशक गुण भी पायें जाते है| इसके अलावा गिलोय के असंख्य लाभ है, जिसने लोग आज भी अनजान है| इस पोस्ट में हम आपको गिलोय के फायदे और गिलोय के लाभ के बारे में बता रहे है|

गिलोय के फायदे (Benefits of Giloy in Hindi)

मधुमेह में गिलोय के फायदे – मधुमेह रोगोयो के लिए गिलोय का रस बहुत लाभकारी है| गिलोय का रस लिपिड और रक्तचाप के स्तर को कम करने में सहायक है| मधुमेह के मरीज अगर रक्त शर्करा के बढ़े स्तर को कम करना चाहते है, तो रोजाना थोड़ी मात्रा में गिलोय के रस का सेवन करे| टाइप 2 मधुमेह का इलाज गिलोय के रस के सेवन से बहुत आसान हो जाता है|

इम्यूनिटी बढ़ाने में गिलोय के फायदे – गिलोय के सेवन से इम्यूनिटी अर्थात रोगों से लड़ने की क्षमता बढती है| गिलोय में पाए जाने एंटीऑक्सीडेंट गुणों के कारण यह शरीर की रोगों से लड़ने में मदद करता है, और अनेक प्रकार के स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है| गिलोय मुक्त कणों को बाहर निकालने के साथ साथ जिगर और गुर्दे से विषाक्त पदार्थो को बाहर निकालता है| अगर नियमित रूप से उचित मात्रा में गिलोय के रस का सेवन किया जाएँ, तो शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता तेजी से बढती है|

गिलोय के औषधीय गुण डेंगू में – ज्वरनाशक प्रकर्ति के कारण गिलोय डेंगू बुखार और अन्य रोगो के इलाज में लाभकारी है| गिलोय के सेवन से ब्लड में प्लेटलेट्स की संख्या तेजी से बढ़ती है, जिसके कारण यह डेंगू बुखार और अन्य कई खतरनाक बीमारियों के लक्षणों को कम करने में सहायक है| बुखार के उपचार के लिए गिलोय सबसे बेहतर आयुर्वेदिक दवा है| गिलोय के अर्क में शहद मिलाकर चाटने से मलेरिया के मरीज को बहुत आराम मिलता है|

गठिया में गिलोय के रस के फायदे – वातरोगी गठिया से ग्रसित लोगो के लिए गिलोय का रस बहुत उपयोगी है| गिलोय गठिया की सूजन को कम करता है और गठिया के अन्य लक्षणों को कम करने में मदद करता है| गिलोय को अरंडी के तेल के साथ इस्तेमाल करने से गाउट में राहत मिलती है| घी के साथ गिलोय का इस्तेमाल करने से यह गठिया के इलाज में उपयोगी होता है| अगर आप रुमेटी गठिया का इलाज करना चाहते है, तो अदरक के साथ गिलोय का इस्तेमाल करे|

पाचन में उपयोगी गिलोय – अगर आपको पाचन से जुडी कोई भी परेशानी है, तो गिलोय का सेवन करे| गिलोय में मौजूद असंख्य गुणों के कारण यह पाचन में उपयोगी है| पाचन को बेहतर बनाने के लिए गिलोय का रस ताज़ी छाज के साथ ले| गिलोय के पाउडर का सेवन आंवला पाउडर के साथ भी किया जा सकता है| यह अपच और पेट से जुडी सभी बीमारियों के उपचार में उपयोगी है|

गिलोय से खून की कमी दूर करे – जिन लोगो को खून की कमी अर्थात एनीमिया की समस्या होती है, उनके लिए गिलोय का सेवन बहुत लाभकारी है| शरीर में खून की कमी होने पर खून की कमी दूर करने के लिए गिलोय के रस का सुबह शाम देशी घी या शहद के साथ सेवन करे|

त्वचा के लिए गिलोय के फायदे – गिलोय में उम्र विरोधी तत्व पाएं जाते है, जिसके कारण यह बढ़ती उम्र के लक्षणों जैसे झाइयां, मुँहासे, काले धब्बे आदि कम करने में सहायक होता है| अगर आप अपनी सुंदरता में निखार चाहते है, तो अपने चेहरे पर गिलोय का रस लगाएं| गिलोय का रस लगाने से स्किन से जुडी सभी प्रॉब्लम दूर हो जायेगी|

दिमाग के लिए गिलोय के लाभ – गिलोय को अडाप्टोजेनिक जडी बूटी की तरह इस्तेमाल किए जाने के कारण, गिलोय चिंता और मानसिक तनाव को दूर करने में सहायक है| गिलोय को अन्य जड़ी बूटियों के साथ मिलाकर एक बेहतर स्वास्थ्य टॉनिक बनाया जाता है| यह टॉनिक दिमाग के लिए बहुत उपयोगी होता है| इस टॉनिक के सेवन से स्मरण शक्ति बढ़ती है और काम में ध्यान लगाने में मदद मिलती है| रोजाना गिलोय के फूलो और जड़ से निर्मित रस की 5 ml मात्रा का सेवन करने से दिमाग तेज होता है और दिमाग में मौजूद सभी विषाक्त पदार्थ दूर हो जाते है|

दमे में उपयोगी गिलोय का रस – जिन लोगो को दमा की समस्या होती है, उन लोगो के लिए गिलोय का रस बहुत लाभकारी होता है| गिलोय का रस दमा के खतरनाक लक्षणों को कम करने में सहायक है| अगर आप गिलोय का असर जल्दी चाहते है, तो गिलोय के रस में नीम और आंवला का रस मिलाकर इसका सेवन करे|

आँखों के लिए गिलोय रस के लाभ – गिलोय में अनेक प्रकार के गुण पाएं जाते है, इन गुणों के कारण यह आँखों की रौशनी बढ़ाने में सहायक है| सदियों से गिलोय का इस्तेमाल अनेक प्रकार के नेत्र विकारो के इलाज के लिए किया जा रहा है| गिलोय को पानी में डालकर इसे अच्छी तरह उबाले| अब इस पानी को छानकर ठंडा कर ले| अब इस पानी को अपनी आँखों की पलकों पर लगाएं| ऐसा करने से आँखों की रौशनी धीरे धीरे बढ़ने लगेगी, जिससे बिना चश्मे के बेहतर देखने में मदद मिलेगी|

खुजली दूर करने में उपयोगी गिलोय – खुजली होने का सबसे बड़ा कारण है, रक्त विकार| गिलोय का सेवन करने से सभी प्रकार के रक्त विकार दूर हो जाते है| खुजली होने पर गिलोय के रस का सेवन करे| खुजली को दूर करने के लिए गिलोय की पत्तियों के पेस्ट में हल्दी मिलाकर खुजली वाले हिस्से पर लगाएं|

गिलोय के फायदे पीलिया में – पीलिया रोग में गिलोय के रस के सेवन से बहुत लाभ मिलता है| पीलिया होने पर एक चम्मच गिलोय के पाउडर में, एक चम्मच त्रिफला पाउडर, शहद और काली मिर्च मिलाकर चाटे| ऐसा करने से पीलिया में आराम मिलेगा| इसके अलावा गिलोय के पत्तो के एक चम्मच रस को एक गिलास ताजे मठ्ठे में मिलाकर सुबह शाम इसका सेवन करे| गिलोय का यह घरेलू उपाय पीलिया के उपचार में भी उपयोगी है|

मोटापा में गिलोय के सेवन से फायदे – जो लोग मोटापे से परेशान है, और मोटापा कम करने की आयुर्वेदिक दवा खोज रहे है, उनके लिए गिलोय का सेवन बहुत लाभकारी है| एक शोध के अनुसार गिलोय मोटापा कम करने में सहायक है| अगर आप मोटापा कम करना चाहते है, तो गिलोय के चूर्ण का सेवन शहद और त्रिफला के साथ करे| अगर आप अपना वजन बढ़ाना बंद करना चाहते है, तो गिलोय में आंवला, बहेड़ा, हरड़ और शिलाजीत मिलाकर काढा बनाये और इसका सेवन कुछ दिनों तक लगातार करे|

जलन दूर करने में उपयोगी गिलोय – कई लोगो को पैरो में जलन की समस्या रहती है| अगर आपके पैरो में भी जलन की समस्या हो रही है, तो इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए गिलोय का इस्तेमाल करे| पैरो की जलन को दूर करने के लिए गिलोय के रस को नीम की पत्तियों और आंवला के साथ पकाकर काढ़ा तैयार कर ले| अब जब तक हाथो पैरो की जलन दूर ना हो जाएँ, तब तक इस काढ़े का सेवन दिन में दो से तीन बार करे|

उल्टियां दूर करे गिलोय – कुछ लोगो को अक्सर उल्टियां होने लगती है| गर्मियों के दिनों में उल्टियों की समस्या होना सबसे आम बात है| उल्टियों की समस्या को दूर करने के लिए गिलोय के रस का सेवन करे| गर्मी के कारण अगर आपको उल्टी आ रही है, तो गिलोय के ताजा रस में शहद या मिश्री मिलाकर सुबह शाम इसका सेवन करे|

कान दर्द होने पर गिलोय के रस के लाभ – अगर आपको कान दर्द की समस्या है, तो इस समस्या को आसानी से गिलोय के रस के माध्यम से दूर किया जा सकता है| कान दर्द होने पर गिलोय की पत्तियों के रस को गुनगुना करके कान में डाले|

गिलोय के नुकसान (Giloy Ke Nuksan)

गिलोय ब्‍लड शुगर को कम करता है, ऐसे में अगर आप मधुमेह के मरीज है, तो बिना डॉक्टर की सलाह के गिलोय का सेवन ना करे| गिलोय का सेवन अधिक मात्रा में करने से कब्ज और निम्न रक्त शर्करा की समस्या पैदा हो जाती है| जो महिलाएं माँ बनने वाली है या जो महिलाएं अपने बच्चे को स्तनपान कराती है, उन महिलाओं को गिलोय का सेवन नहीं करना चाहियें| पांच साल से कम आयु वाले बच्चो को गिलोय का सेवन ना करे| गिलोय का सेवन लम्बे समय तक बिना डॉक्टर की सलाह लिए ना करे|

इस पोस्ट में हमने आपको गिलोय के औषधीय गुण, फायदे और इससे होने वाले नुकसान के बारे में बताया| आपको गिलोय के फायदे के बारे में जानने से कितना लाभ प्राप्त हुआ और आपने इसका लाभ किस प्रकार उठाया इसके बारे में हमें कमेंट करके बताएं| कमेंट करने के लिए पोस्ट के निचे बने कमेंट बॉक्स में जाएँ| अगर आप ऐसे अन्य हेल्थ रिलेटेड आर्टिकल पढ़ना चाहते है, तो रोजाना हमारी वेबसाइट को विजिट करे|

Disclaimer:- All content is good for health but you should take advice from Doctor before using them. We are not responsible for any harm.

ये पढ़ना ना भूले –

Jaldi Mota Hone Ke Liye Medicine aur Dawa
तेजी से हाइट बढ़ाने के तरीके और आसान उपाय
कच्चे लहसुन के फायदे पुरुषों के लिए
बादाम खाने के फायदे, तरीके, लाभ और गुण
चुकंदर जूस के फायदे और नुकसान
दालचीनी के फायदे व नुकसान
कपालभाती प्राणायाम कैसे करें
मोरिंगा के फायदे और नुकसान
सहजन की सब्जी के फायदे
दौड़ने के 20 फायदे

Disclaimer:- All content is good for health but you should take advice from Doctor before using them. We are not responsible for any harm.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 + 6 =