(दस्त) डायरिया का इलाज, लक्षण : Diarrhea Treatment/Symptoms in Hindi

डायरिया के लक्षण और इलाज

डायरिया का इलाज (Diarrhea Treatment in Hindi) : बिना मरोड़ के लगातार पतले दस्त आना डायरिया कहलाता है। डायरिया को दस्त और अतिसार भी कहते है| डायरिया खाने पीने में गड़बड़ी, आंत में समस्या होने और प्रदूषित पानी पीने से होता है| इसके अलावा बैक्टेरियल और वायरल संक्रमण के कारण भी डायरिया हो जाता है| ((ये भी पढ़े – बच्चो में पीलिया का इलाज))

Diarrhea in Hindi

डायरिया (Diarrhea) जानलेवा बीमारी नहीं है, लेकिन अगर इसका इलाज लम्बे समय तक ना कराया जाएँ, तो यह जानलेवा साबित हो सकती है| डायरिया होने पर शरीर में पानी की कमी होने लगती है, जब डायरिया लम्बे समय तक होते है, तब शरीर से धीरे धीरे सारा पानी खत्म हो जाता है| पानी की कमी के कारण ही डायरिया से पीड़ित लोगो की मृत्यु हो जाती है|

डायरिया (Diarrhea in Hindi)

डायरिया होने पर शरीर में पानी की कमी हो जाती है| शरीर में पानी की कमी होने को डिहाइड्रेशन कहते हैं| डिहाइड्रेशन की प्रॉब्लम होने पर शरीर में संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ जाता है, और शरीर बहुत कमजोर हो जाता है| डिहाइड्रेशन की समस्या बढ़ने पर मरीज को चलने फिरने में भी तकलीफ होने लगती है| डिहाइड्रेशन की समस्या बढ़ने पर कई लोगो की जान भी चली जाती है|

डायरिया किसी भी मौसम में किसी को भी हो सकता है, लेकिन बरसात के मौसम में डायरिया सबसे ज्यादा होता है| क्योंकि बरसात के मौसम में गंदगी अधिक होती है| ज्यादा एसीडिटी बनने से भी डायरिया की समस्या होती है| एसीडिटी के कारण होने वाला डायरिया अधिक उम्र वाले लोगो को अधिक परेशान करता है| बच्चो को डायरिया की प्रॉब्लम सबसे अधिक होती है| एक्यूट डायरिया एक साल में बच्चो को दो बार और बड़े लोगो को एक बार जरूर परेशान करता है|

डायरिया कितने प्रकार का होता है (Types of Diarrhea in Hindi)

1. एक्यूट इंटरेटाइटिस (Acute Enteritis)
2. डिसेंट्री (Dysentery)
3. गैस्टरोइंटरेटाइटिस (Gastroenteritis)
4. क्रॉनिक डायरिया (Chronic Diarrhea)

डायरिया के लक्षण (Symptoms of Diarrhea in Hindi)

1. हाथ-पैर ठंडे पड़ना
2. पेट दबाने पर दर्द होना
3. पतले दस्त आना
4. शारीरिक कमजोरी
5. दस्त के साथ खून आना
6. आंतो में सूजन
7. थकान
8. शरीर में बेचैनी
9. जीभ सूखना

डायरिया होने के कारण (Diarrhea Causes in Hindi)

डायरिया होने का सबसे बड़ा कारण है, बैक्टीरियल संक्रमण| इसके साथ ही खाने पीने जैसी चीजों की गलत आदतों और प्रदूषित पानी पीने और गन्दा खाना खाने से भी डायरिया की प्रॉब्लम हो जाती है| डायरिया से बचाव करने के लिए डायरिया होने के कारण जानना बहुत जरुरी है|

1. डायरिया की प्रॉब्लम फ़ूड पॉइजनिंग के कारण भी होने लगती है|

2. मौसम का अचानक बदलना भी डायरिया होने का कारण है|

3. कुछ दवाईयों के साइड इफ़ेक्ट और दवाइयों से एलेर्जी के कारण भी डायरिया हो जाता है|

4. अधिक तैलीय और मिर्च मशालेदार खाना खाने से डायरिया की समस्या हो जाती है| गर्मियों के दिनों में ऐसा करने से प्रॉब्लम जल्दी होती है|

5. गन्दा खाना खाने, दूषित पानी पिने, और अधिक ठंडा पानी और ज्यादा खाना खाने से भी डायरिया हो जाता है|

6. वायरल इंफेक्शन के कारण बरसात और सर्दियों के मौसम में सबसे अधिक डायरिया की प्रॉब्लम होती है|

7. मिलावटी चीजे जैसे पनीर, दूध, घी और दही जैसी चीजे खाने से भी डायरिया हो जाता है|

डायरिया का इलाज (Diarrhoea Treatment in Hindi)

डायरिया का इलाज घर पर भी किया जा सकता है, लेकिन अगर अधिक पतले दस्त लम्बे समय तक आ रहे है, तो डॉक्टर के पास जाना ही उचित है| डायरिया लम्बे समय तक होने पर शरीर में पानी की कमी हो जाती है, जिसे डिहाइड्रेशन कहते है| डिहाइड्रेशन होने पर मरीज की स्थिति काफी गंभीर हो जाती है| डिहाइड्रेशन होने पर डॉक्टर सुई में माध्यम से सेलाइन और इलेक्ट्रोलाइट्स मरीज के शरीर में चढ़ाते है| डिहाइड्रेशन से बचने के लिए डायरिया होने पर अधिक मात्रा में पानी, ओआरएस घोल और इलेक्ट्रोलाइट्स पानी पीते रहना चाहिए| ध्यान रहे पानी को उबाल कर ही पियें| देखभाल और परहेज के माध्यम से ही डायरिया का इलाज किया जा सकता है|

डायरिया का चिकित्सकीय इलाज (Diarrhea Medical Treatment in Hindi)

1. एंटीबायोटिक दवाएं (Antibiotics) – डायरिया वायरल संक्रमण के कारण भी होता है| वायरल संक्रमण के कारण डायरिया होने पर डॉक्टर मरीज के शरीर से संक्रमण को खत्म करने के लिए एंटीबायोटिक दवाएं देते है| डायरिया ई- कोलाई संक्रमण भी होता है| ई- कोलाई संक्रमण को खत्म करने के लिए भी रोगी को एंटीबायोटिक दवाएं दी जाती है|

2. आइवी फ्लूयड्स (IV Fluids) – डायरिया दो से तीन दिन तक होने पर शरीर में पानी की कमी हो जाती है| जिससे मरीज की स्थिति काफी गंभीर हो जाती है| शरीर में पानी की पूर्ति करने के लिए डॉक्टर मरीज के शरीर में नस के माध्यम से आइवी फ्लूयड्स चढ़ाते है| आइवी फ्लूयड्स से शरीर में पानी की कमी दूर हो जाती है| आइवी फ्लूयड्स चढाने के बाद मरीज की स्थिति पहले से बहुत बेहतर हो जाती है|

डायरिया के उपचार के घरेलू नुस्खे (Home Remedies for Diarrhea in Hindi)

1. अदरक (Ginger) – फूड पॉइजनिंग के कारण भी डायरिया हो जाता है| ऐसी स्थिति में अदरक का सेवन लाभकारी है| अदरक खाने से डायरिया के कारण होने वाले पेट दर्द और पेट में ऐठन से भी निजात मिलती है| डायरिया के घरेलू इलाज के लिए शहद में अदरक को कद्दूकस करके मिलाकर खाये और फिर तुरंत एक गिलास पानी पी ले| इससे डायरिया में काफी आराम मिलेगा| अदरक की चाय पीने से भी डायरिया में लाभ होता है|

2. गाजर का सूप (Carrot Soup) – डायरिया होने पर शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है| जिसके कारण शरीर कमजोर हो जाता है और शरीर की रोगो से लड़ने की क्षमता भी कम हो जाती है| शरीर में पोषक तत्वों की कमी को दूर करने के लिए गाजर का सुप बनाकर पियें| गाजर को काटकर पानी में डालकर जब तक उबाले जब तक गाजर पूरी तरह पानी में घुल ना जाये| अब इस पानी को ठंडा करके छाने और इसमें स्वादानुसार नमक, काली मिर्च पाउडर और जीरा पाउडर मिलाकर पियें| गाजर के सुप के अलावा गाजर का जूस भी पी सकते है|

3. दही (Curd) – डायरिया होने पर दही का सेवन लाभकारी है| दही में मौजूद बैक्टीरिया, शरीर में मौजूद डायरिया के खतरनाक बैक्टीरिया को खत्म करने का काम करते है| अगर आप डायरिया से पीड़ित है, तो रोजाना दो कटोरी दही खाये| अधिक लाभ पाने के लिए सादे बने सफ़ेद चावल में दही मिलाकर खाये| ध्यान रहे ताजी दही ही खाये|

4. मेथी दाना (Fenugreek seeds) – डायरिया का उपचार घर पर करने के लिए मेथी दाने का इस्तेमाल कर सकते है| डायरिया होने पर एक चम्मच मेथी दाने को चबाकर खाये| मेथी खाने के बाद एक चम्मच ताजी दही खा ले| मेथी और जीरे को तवे पर हल्का भूनकर पाउडर बना ले| अब इस पाउडर को दही में मिलाकर खाये| रोजाना दिन में तीन बार ये नुस्खा आजमाने से डायरिया की समस्या ठीक हो जाएगी|

5. कैमोमाइल चाय (Chamomile Tea) – अगर आपको डायरिया है, तो आप कैमोमाइल चाय बनाकर पियें| कैमोमाइल चाय डायरिया के इलाज में काफी लाभकारी है|

6. सेब का सिरका (Apple Vinegar) – सेब के सिरके में एसिडिक गुण पाया जाता है| सेब के सिरके का ये एसिडिक गुण डायरिया के बैक्टीरिया को नाश करने का काम करता है| डायरिया होने पर एक गिलास साफ पानी में एक चम्मच सेब का सिरका मिलाकर पियें| इस घरेलू नुस्खे को दिन में दो से तीन बार जब तक अपनाये, जब तक डायरिया ठीक ना हो जाये|

7. केला (Banana) – केला डायरिया रोग में लाभकारी है| डॉक्टर भी डायरिया होने पर केला खाने की सलाह देते है| केले में भरपूर मात्रा में पौटेशियम और पैक्टिन तत्व पाया जाता है, जो डायरिया के मरीज के लिए बहुत जरुरी होता है| डायरिया के मरीज को रोजाना दिन में तीन से चार पके केले खाने चाहिए|

8. सफेद चावल (White Rice) – डायरिया होने पर डॉक्टर मरीज को सादे सफ़ेद गीले चावल खाने की सलाह देते है, क्योंकि ये हल्के होते है, जो आसानी से पच जाते है| चावल की पतली खिचड़ी बनाकर भी खा सकते है| खिचड़ी में केवल हल्का नमक डाले| दही के साथ खिचड़ी या पतले चावल बनाकर खाने से भी लाभ होता है|

डायरिया से कैसे बचे –

1. अगर आप डायरिया से बचना चाहते है, तो बासी, अधिक मशालेदार और तैलीय चीजों का सेवन करना बंद करे|

2. बासी दूध पीने से भी डायरिया हो जाता है, इसीलिए बासी दूध ना पियें|

3. अगर आप फ्रिज में खाने का सामान रखती है, तो फ्रिज से निकालकर उन चीजों को तुरंत ना खाये| खाने से पहले उन्हें सामान्य तापमान पर आने दे|

4. चाय, कॉफी और शराब के अधिक सेवन से शरीर में गर्मी बढ़ जाती है, जिससे डायरिया होने का खतरा पैदा हो जाता है| इसीलिए इन चीजों का सेवन कम करे, अगर हो सके तो इनका सेवन पूरी तरह बंद कर दे|

5. डायरिया से बचाव के लिए साफ़ सफाई पर ध्यान देना बहुत जरुरी है| इसीलिए खाने पीने की चीजों को हमेशा ढककर रखे| जो चीजे खुली रखी हो, उन्हें ना खाये|

6. दूषित पानी पीने और गन्दा खाना खाने से बचे|

7. अपने नाखुनो की सफाई रोजाना करे|

डायरिया होने पर क्या करे –

1. डायरिया होने पर पानी को उबालकर ठंडा करके पियें|

2. पानी में पुदीने की पत्तियों को उबालकर उस पानी को छानकर पियें|

3. एक बार अधिक ना खाये| थोड़ी थोड़ी मात्रा में खाये|

4. पेट की सिकाई करे, या पेट को गर्म कपडे से ढककर रखे|

5. पानी अधिक पियें|

6. कुछ समय के अंतराल पर तरल पदार्थ खाते रहे, इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होगी|

7. चावल, खिचड़ी, दलिया और दही जैसी सुपाच्य और जल्दी पचने वाली चीजे खाये|

8. हाथो के नाख़ून ना बढ़ाये और खाने से पूर्व हाथो की अच्छी तरह सफाई करे|

इस पोस्ट में आपने डायरिया का इलाज घर पर घरेलू नुस्खों द्वारा कैसे करे, इसके बारे में जाना| आपको हमारी Diarrhea in Hindi ये पोस्ट कैसी लगी, हमें कमेंट करके बताये| कमेंट करने के लिए पोस्ट के निचे बने कमेंट बॉक्स पर जाये| ऐसे अन्य हेल्थ से जुड़े आर्टिकल पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट को रोजाना पढ़े|

Disclaimer:- All content is good for health but you should take advice from Doctor before using them. We are not responsible for any harm.

ये भी पढ़े –

मोटापा कम करने के उपाय (Weight Loss Tips)
कमर और पेट कम करने के उपाय (Kamar Aur Pet kam Karne ka Upay)
गर्भावस्था के लक्षण (Symptoms of Pregnancy in Hindi)
कैंसर के लक्षण (Symptoms of Cancer in Hindi)
कैंसर क्या है (Cancer Disease in Hindi)
मोटा होने की दवा (Mota Hone Ki Medicine)
हाइट बढ़ाने के तरीके (Height Grow Tips in Hindi)

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 4 =