Dalchini Health Benefits in Hindi दालचीनी के फायदे व नुकसान

Top Dalchini Benefits in Hindi

दालचीनी के चमत्कारी फायदे : दालचीनी (DALCHINI) का इस्तेमाल हर भारतीय घर में भोजन को स्वादिष्ट बनाने के लिए किया जाता है| लेकिन क्या आप जानते है, दालचीनी खाने के अनेक स्वास्थ्यवर्धक फायदे है| पुराने ज़माने से दालचीनी का उपयोग अनेक प्रकार की आयुर्वेदिक दवा बनाने में किया जाता है| दालचीनी में मौजूद औषधीय गुणों के कारण दालचीनी को पुराने ज़माने में सोने से भी कीमती माना जाता था|

Dalchini ke Fayde

दालचीनी की छाल और पत्तियों को सुखाकर पाउडर की तरह इस्तेमाल किया जाता है| बाजार में आसानी से दालचीनी पाउडर मिल जाता है| दालचीनी की छाल भूरे रंग की कोमल और मोटी होती है| दालचीनी की सौ से अधिक किस्मे होती है| दालचीनी के पेड़ से हमेशा खुशबु आती रहती है| दालचीनी से तेल भी निकाला जाता है| दालचीनी का तेल शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है|

दालचीनी से बनाई गयी आयुर्वेदिक दवा का इस्तेमाल अनेक बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है| शुगर, स्ट्रोक और एसिडिटी जैसी लाइलाज बीमारी में भी दालचीनी का इस्तेमाल किया जाता है| अगर आप वजन घटाने की सोच रहे है, तो दालचीनी का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद साबित होगा| दालचीनी खाने के अनेक फायदे है, आएये जाने दालचीनी के फायदे क्या क्या है, इसके बारे में|

दालचीनी में मौजूद मुख्य घटक (Main Ingredients in Cinnamon in Hindi)

  • सोडियम (Sodium)
  • विटामिन ए (Vitamin A)
  • विटामिन सी (Vitamin C)
  • पोटेशियम (Potassium)
  • प्रोटीन (Protein)
  • फास्फोरस (Phosphorus)
  • थायमिन (Thiamine)
  • कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate)
  • नियासिन (Niacin)
  • राइबोफ्लेविन (Riboflavin)

दालचीनी के फायदे (Dalchini Benefits in Hindi)

मधुमेह में दालचीनी के फायदे (Dalchini Benefits for Diabetes in Hindi)

टाइप 2 डायबिटीज पेशेंट के लिए दालचीनी का सेवन आयुर्वेदिक दवा के समान है| दालचीनी के सेवन से शरीर की इंसुलिन के प्रति प्रतिक्रिया बढ़ जाती है| जिसके कारण ब्लड में शुगर का लेवल सामान्य बना रहता है| एक शोध के अनुसार जो टाइप 2 डायबिटीज पेशेंट रोजाना एक चम्मच दालचीनी का सेवन करते है, उनमे रक्त शर्करा का स्तर सामान्य पाया जाता है|

अगर आप डायबिटीज पेशेंट है, तो आपको दालचीनी का सेवन जरूर करना चाहिए| दालचीनी का सेवन करने के लिए इसे आप सुबह के नाश्ते में डालकर या चाय, कॉफी में मिलाकर पी सकते है| दाल सब्जी में भी दालचीनी पाउडर को छिड़का जा सकता है|

कैंसर में दालचीनी के गुणकारी लाभ (Dalchini Benefits for Cancer in Hindi)

कैंसर जैसी जानलेवा और सबसे खतरनाक बीमारी में भी दालचीनी का सेवन फायदेमंद है| आस्ट्रेलिया और जापान के वैज्ञानिकों ने बोन और आमाशय कैंसर को शहद और दालचीनी पाउडर के उपयोग से काबू किया है| दालचीनी में मौजूद खनिज तत्व कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकते है| कैंसर के मरीज को रोजाना एक दो चम्मच शहद में एक चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर गर्म पानी से सेवन करना चाहिए|

वजन घटाए दालचीनी (Dalchini for Weight Loss in Hindi)

अगर आप मोटापे से परेशान है, और कोई ऐसा घरेलू नुस्खा ढूंढ रहे है, जिससे बिना किसी नुकसान आपका वजन आसानी से कम हो जाये, तो दालचीनी का सेवन करे| एक गिलास पानी में एक चम्मच दालचीनी पाउडर डालकर उबाले| अब इस पानी को छलनी से छाने और इसमें दो चम्मच शहद मिलाकर नाश्ता करने से आधा घंटा पहले पियें| इस नुस्खें को रात को सोने से पहले भी आजमाए| रोजाना ऐसा करने से आपके शरीर में जमी फालतू चर्बी खत्म हो जायेगी|

दालचीनी के फायदे पेट के लिए (Dalchini Good For Stomach in Hindi)

दालचीनी में फाइबर, कैल्शियम और मैंगनीज भरपूर मात्रा में पाया जाता है| ये सभी तत्व पेट के लिए बहुत फायदेमंद है| दालचीनी के सेवन से अपच जैसी पेट से जुडी प्रॉब्लम दूर हो जाती है| अगर आपको दस्त के साथ उल्टी हो रही है, तो दालचीनी का इस्तेमाल करे| अगर आपको खाना सही से नहीं पच रहा और साथ ही एसिडिटी और पेट दर्द की समस्या भी हो रही है, तो एक चम्मच शहद में थोड़ी मात्रा में दालचीनी पाउडर मिलाकर चाटे|

दालचीनी की चाय के फायदे दिमाग के लिए (Dalchini Benefits for Brain in Hindi)

दालचीनी के एक विशेष प्रकार की मनमोहक खुशबु आती है| दालचीनी की खशबू सूंघने से ही दिमाग सक्रिय हो जाता है| दालचीनी का सेवन करने से स्मरण शक्ति, ध्यान और कार्य शक्ति बढ़ती है| दालचीनी को चाय में घोलकर पीने से घबराहट और चिंता दूर होती है| रोजाना एक कप दालचीनी की चाय पी जा सकती है|

सर्दी जुखाम होने पर दालचीनी का सेवन करे (Dalchini Powder – Useful in Cough and Cold in Hindi)

सर्दियों के मौसम में सर्दी जुखाम होना एक आम परेशानी है, इससे बचने के लिए आप दालचीनी का इस्तेमाल कर सकते है| सर्दी जुखाम होने पर सुबह शाम एक चम्मच शहद में थोड़ी मात्रा में दालचीनी पाउडर मिलाकर सेवन करे| जुखाम के साथ अगर गले में खराश भी हो रही है, तो गुनगुने पानी में एक चुटकी काली मिर्च पाउडर, शहद और दालचीनी पाउडर मिलाकर पियें| इससे जुखाम और गले की खराश दोनों में आराम मिलेगा| सर्दियों में अक्सर ठंडी हवा के कारण सिर दर्द होने लगता है| ऐसे में दालचीनी के पाउडर को पेस्ट बनाकर माथे पर लगाए, इससे काफी आराम मिलेगा|

दालचीनी कोलेस्‍ट्रॉल को कम करे (Dalchini for High Cholesterol in Hindi)

दालचीनी ब्लड में खराब कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम कर देती है, जिसके कारण दिल से जुडी अनेक बीमारियों का खतरा कम हो जाता है| अगर आप अपना कोलेस्ट्रॉल लेवल कण्ट्रोल में रखना चाहते है, तो रोजाना कम से कम एक बार अपनी कॉफी, चाय या दाल सब्जी में दालचीनी पाउडर छिड़कर खाये|

दालचीनी के फायदे हृदय के लिए (Dalchini Good For Heart in Hindi)

दालचीनी में अनेक प्रकार के Anti-inflammatory गुण पाए जाते है| जिसके कारण यह हार्ट और हार्ट के आस पास की धमनियों को संक्रमण और अनेक प्रकार के नुकसान से बचाती है| आजकल बच्चे से लेकर बढ़े बूढ़े भी ऐसा भोजन करना पसंद करते है, जिसमे वसा और कोलेस्ट्रॉल का स्तर अधिक होता है| ऐसी चीजे खाने से खराब कोलेस्ट्रॉल का लेवल शरीर में बढ़ जाता है, जिसके कारण ह्रदय रोगो का खतरा बढ़ जाता है|

रोजाना दालचीनी खाने से शरीर को खराब कोलेस्ट्रॉल से लड़ने की शक्ति मिलती है| जिससे दिल से जुडी अनेक बीमारियों का खतरा कम हो जाता है| दालचीनी में मौजूद Anti-inflammatory गुण के कारण यह ऊतकों की सूजन को कम करती है|

जोड़ों का दर्द होने पर दालचीनी के फायदे (Dalchini Powder – Useful in Joint Pain in Hindi)

अगर आपके जोड़ो में दर्द है, तो दालचीनी के ये घरेलू नुस्खे अपनाये| गुनगुने पानी में शहद और दालचीनी पाउडर मिलाकर दर्द वाले हिस्से पर लगाकर मालिश करे| जोड़ो का दर्द होने पर शहद और दालचीनी पाउडर को एक कप पानी में घोलकर पीने से भी फायदा होता है|

दालचीनी के नुकसान (Dalchini Ke Nuksan in Hindi)

1. दालचीनी की 100 से अधिक प्रजाति पायी जाती है| इनमे अधिकतर में कुमरिन (Coumarin) 5 % से अधिक होता है, इसीलिए दालचीनी का अधिक सेवन करने से लिवर खराब हो सकता है| ऐसे में दालचीनी का सेवन जरुरत से अधिक ना करे| अगर हो सके तो सीलोन दालचीनी का इस्तेमाल करे| इसमें कुमरिन (Coumarin) केवल 0.04 % होता है|

2. दालचीनी के तेल के अनेक फायदे है, लेकिन इसमें बिना कुछ मिलाये त्वचा पर ना लगाए| दालचीनी के तेल में बिना कुछ मिलाये इसे त्वचा पर लगाने से त्वचा में जलन हो सकती है|

3. कैसिया दालचीनी ब्लड को पतला करती है, इसीलिए अगर आप पहले से ब्लड को पतला करने की दवा खा रहे है, तो कैसिया दालचीनी का सेवन ना करे| अगर आप दालचीनी का इस्तेमाल करना चाहते है, तो सीलोन दालचीनी ले|

4. गर्भावस्‍था के दौरान गलती से भी दालचीनी का सेवन ना करे| दालचीनी के सेवन से गर्भाशय में संकुचन हो सकता है, कभी कभी इसके सेवन से समय से पहले ही डिलीवरी हो जाती है| ऐसे में दालचीनी का सेवन ना ही करे|

5. दालचीनी के फायदों को जानकर कुछ लोग इसका अधिक सेवन करना शुरू कर देते है, लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए| दालचीनी के अधिक सेवन से पेट में जलन होने लगती है| जिन लोगो को अल्सर की प्रॉब्लम होती है, उनमे दालचीनी का यह साइड इफ़ेक्ट अधिक देखने को मिलता है|

इस पोस्ट में हमने आपको दालचीनी के फायदे और दालचीनी के अधिक सेवन से क्या क्या नुकसान हो सकते है, इसके बारे में जानकारी दी| दालचीनी बहुत लाभकारी है, इसीलिए इसके पाउडर को दाल सब्जी में डालकर इसका सेवन जरूर करे| पोस्ट से जुड़े किसी भी सवाल के लिए हमें कमेंट करना ना भूले|

Disclaimer:- All content is good for health but you should take advice from Doctor before using them. We are not responsible for any harm.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × four =